रामनाथपुरम, प्रेट्र। तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले में आतंकी संगठन आइएस से संबंध रखने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि तीनों जिहादी विचारधारा का प्रचार करते थे और इस्लाम का विरोध करने वालों की हत्या की फिराक में थे, ताकि लोगों के बीच भय पैदा हो।

पुलिस ने गुरुवार को बताया कि आरोपित बी. मुहम्मद अली, पुरा गनी और आमिर को एक सूचना के आधार पर देवीपटनम से बुधवार को उस समय गिरफ्तार किया गया, जब सभी फरार होने की तैयारी में थे। हालांकि, एक अन्य आरोपित शेख दाऊद फरार होने में कामयाब रहा।

आइएस के लिए करते थे भर्तियां 

अधिकारियों ने बताया कि आरोपित रामनाथपुरम में जिहादी विचारधारा का प्रचार-प्रसार कर रहे थे। वे लोग देशविरोधी गतिविधियों में भी शामिल थे। आरोपित प्रतिबंधित संगठन आइएस के लिए भर्तियां करने और धन जुटाने का काम भी करते थे।

ऑडियो क्लिप के रूप में मिली जिहादी प्रचार सामग्री

पुलिस ने बताया कि जब उन्हें गिरफ्तार किया गया तब वे एक अन्य आरोपित अब्दुल शमीम को धन हस्तांतरित करने की बात कर रहे थे। शमीम केरल सीमा पर स्थित कन्याकुमारी जिले में हुई विल्सन की हत्या का आरोपित है। पुलिस ने तीनों आरोपितों के पास से किताबें और इस्लामिक प्रचार सामग्री जब्त की हैं। उनके पास से ऑडियो क्लिप के रूप में भी जिहादी प्रचार सामग्री मिलीं, जिन्हें वे वाट्सएस समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपलोड करते थे।

यूएपीए के तहत मुकदमा दर्ज

तीनों आरोपित मुहम्मद रियाज व शेख दाऊद के साथी हैं, जिन पर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने पहले से मुकदमा दर्ज कर रखा है। पुलिस ने आइपीसी की विभिन्न धाराओं समेत गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस