नई दिल्ली, जेएनएन। भाजपा नेता सुब्रहमण्यम स्वामी ने बुधवार को 2जी स्पेक्ट्रम केस में उद्योगपति रतन टाटा और दूसरे लोगों के खिलाफ सबूत पेश करने को लेकर कोर्ट से अतिरिक्त समय की मांग की है। इससे पहले की सुनवाई में दिल्ली कोर्ट ने स्वामी की उस मांग को खारिज कर दिया था, जिसमें उन्होंने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की थी और सीबीआई से मामले में एक स्टेट्स रिपोर्ट दाखिल करने की अपील की थी।

स्वामी ने दावा किया कि सीबीआई ने पुष्टि की है कि 2जी मामले में टाटा की सहभागिता की जांच चल रही है। भाजपा नेता स्वामी की ओर से पिछले वर्ष दिसंबर में उद्योगपति रतन टाटा और पूर्व टेलीकॉम मंत्री ए राजा और वरिष्ठ यूनिटेक के एक अधिकारी पर गलत तरीके से यूनिटेक कंपनी को 2जी स्पेक्ट्रम लाइसेंस दिलाने में मदद का आरोप लगाया।

स्वामी का आरोप है कि टाटा ग्रुप की कई कंपनियों ने यूनिटेक की कंपनियों की मदद से करीब 1,700 करोड़ का अवैध तरीके से लेनदेने किया गया। यह पूरा लेनदेन वर्ष 2007 के मार्च माह से वर्ष 2008 के मार्च माह के दरम्यान हुआ।

स्वामी की ओर से मामले में मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर के हवाले से कई सबूत पेश किये गये हैं। स्वामी ने कोर्ट से मामले में आरोपियों के खिलाफ धोखेबाजी, आपराधिक साजिश और मनी लांड्रिंग के तहत के चलाने की मांग की। स्वामी ने कोर्ट से अपील करते हुए कहा कि वो प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को आगे की जांच के लिए निर्देश दें। 

यह भी पढ़ें: PAK फिर हुआ बेनकाब, सामने आई हिजबुल मुजाहिदीन के नए आतंकियों की तस्‍वीर

Posted By: Mohit Tanwar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस