जागरण संवाददाता, राजौरी : सीमापार पाकिस्तान में लांचिंग पैड पर आतंकियों की संख्या बढ़ती जा रही है। करीब ढाई सौ से 300 आतंकी घुसपैठ के लिए तैयार बैठे हैं। समय-समय पर सीमा पार करने का भी प्रयास कर रहे हैं। आतंकियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए भारतीय सेना के जवान पूरी तरह चौकस हैं। सीमा पार मौजूद आतंकी पाकिस्तानी सेना की चौकियों में डेरा डाले हुए हैं।

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के अधिकारी लगातार पाकिस्तानी सेना की चौकियों का दौरा कर आतंकियों को दिशानिर्देश दे रहे हैं ताकि वे जल्द से जल्द भारतीय क्षेत्र में दाखिल होकर अपनी गतिविधियों को अंजाम दे सकें। पाकिस्तानी सेना की चौकियों पर मौजूद आतंकी लगभग हर रोज भारतीय क्षेत्र की रेकी कर रहे हैं। वे देख रहे हैं कि सीमा पार करने के लिए कौन सा रास्ता सुरक्षित है और किस मार्ग पर सुरक्षा में कमी है। इसके बाद रेकी किए हुए रास्तों से घुसपैठ का प्रयास करेंगे।

घुसपैठ कराने के लिए गाइड तैयार

सीमापार कर आने वाले नए आतंकियों को उनकी मंजिल तक पहुंचाने के लिए गाइड सक्रिय हो चुके हैं। सूत्रों की मानें तो गाइड ही सीमा पार कर आए आतंकियों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने का कार्य करते हैं क्योंकि वे सीमा के नजदीक के क्षेत्र से अच्छी तरह वाकिफ होते हैं। सुरक्षा एजेंसियों ने पुराने गाइडों पर नजर रखी हुई है। कुछ दिनों से साब्जियां सेक्टर, शाहपुर, केरी, बालाकोट, शाहपुर, कीरनी व कलाल सेक्टर के उस पार आतंकियों को पाकिस्तानी सेना की चौकियों में आते-जाते देखा गया है।

इन सेक्टरों से घुसपैठ के प्रयास भी हुए हैं, जिन्हें सेना के जवानों ने विफल कर दिया है। डीआइजी, राजौरी-पुंछ रेंज दीपक सलाथिया का कहना है कि सीमा पार आतंकी मौजूद हैं। इसकी जानकारी मिल रही है, लेकिन आतंकियों का भारतीय क्षेत्र में दाखिल होना इतना आसान नहीं है। सीमा पर सेना के जवान पूरी तरह चौकस हैं। आतंकियों की गतिविधियों पर पूरी नजर रखी जा रही है।

यह भी पढ़ेंः 2017 में सेना ने बनाई थी रणनीति, ये बदला नहीं भूलेगा पाकिस्तान

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान ने मदरसों पर कसा शिकंजा, इस प्रांत के सभी मदरसों को लिया सरकारी नियंत्रण में

Posted By: Gunateet Ojha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस