नई दिल्ली, प्रेट्र। केंद्र सरकार ने सोमवार को कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते देशभर में कुल 190 सैन्यकर्मियों की मौत हुई है। सबसे ज्यादा 137 कर्मियों की मौत थल सेना में हुई। रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को बताया कि देश में कोरोना का संक्रमण फैलने के बाद वायु सेना के 49 और नौ सेना के चार कर्मियों की मौत हुई है।

एक सवाल का जवाब देते हुए रक्षा राज्यमंत्री ने बताया आर्मी में कोरोना संक्रमण के कुल 45,576 मामले थे जिसमें से 14,022 वायु सेना में और 7,747 नेवी के। भट्ट ने बताया कि इस महामारी से थल सेना कर्मियों के परिवारों के 1,311 सदस्यों, वायु सेना कर्मियों के परिवारों के 114 सदस्यों और नौ सेना कर्मियों के परिवारों के 66 सदस्यों की मौत हुई। इस दौरान सैन्य अस्पतालों में थल सेना के 276 असैनिकों की भी कोरोना महामारी की चपेट में आने से मृत्यु हो गई। मंत्री ने कहा कि थल सेना के जवानों के परिवार के सदस्यों के संक्रमित होने के 13,010 मामले सामने आए, जबकि इससे प्रभावित वायुसेना कर्मियों के रिश्तेदारों की संख्या 7,380 थी।

उपलब्ध जानकारी के अनुसार भारतीय नेवी के जवानों के परिवार से कुल 2,211 सदस्य कोविड-19 महामारी से प्रभावित हुए। उन्होंने आगे बताया, 'नियमों के अनुसार संक्रामक बीमारी के कारण होने वाली मौतों के लिए किसी तरह का मुआवजा नहीं दिया जाता है और इन्हें भी नहीं मिला जबकि ये सभी अभी अपनी सेवा दे रहे थे।' केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा आज सुबह दी गई जानकारी के अनुसार, 24 घंटों में भारत में 8,309 नए कोविड मामले सामने आए वहीं 236 संक्रमितों की मौत हो गई। इस दौरान 9,905 लोग कोरोना संक्रमण से ठीक हुए। फिलहाल देश में सक्रिय मामलों का आंकड़ा 1,03,859 (पिछले 544 दिनों में सबसे कम) है।

बता दें कि 2019 के अंत में चीन के वुहान शहर में कोरोना संक्रमण का पहला मामला सामने आया था। लेकिन दो-तीन माह के भीतर ही यह घातक संक्रमण पूरी दुनिया में फैल गया और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 11 मार्च 2020 को इसे महामारी घोषित कर दिया।

Edited By: Monika Minal