नई दिल्ली, प्रेट्र। स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि 17 राज्यों ने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए पूरी तरह समर्पित अस्पताल चिन्हित करने का काम शुरू कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने उक्त जानकारी देते हुए इस बात से इन्कार किया कि यह वायरस मच्छरों के जरिये फैलता है। आम जनता को आश्वासन देते हुए उन्होंने कहा कि भारत कोरोना वायरस संक्रमण की चुनौती से निपटने के लिए तैयार है। वहीं, विदेश मंत्रालय ने कहा कि यात्रा प्रतिबंधों के संबंध में मंत्रिसमूह की बैठक में चर्चा हुई और उसे जल्द ही जनता को बता दिया जाएगा।

कोविड-19 के इलाज में प्रभावी हो सकती हैं 69 दवाएं

भारतीय मूल के वैज्ञानिकों समेत एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने ऐसी 69 दवाओं की पहचान की है जो कोविड-19 के इलाज में कारगर साबित हो सकती हैं। शोधकर्ताओं के मुताबिक, इनमें से कुछ दवाओं का पहले से ही डायबिटीज और हाईपरटेंशन जैसी बीमारियों के इलाज में इस्तेमाल किया जा रहा है। अमेरिका स्थित कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के क्वांटिटेटिव बायोसाइंस इंस्टीट्यूट में असिस्टेंट डायरेक्टर जिना टी. गुयेन ने बताया, 'टीम ने वायरल प्रोटीन के बजाय होस्ट प्रोटीन को टारगेट करके अलग दृष्टिकोण अपनाया। मानव कोशिकाओं में सार्स-कॉव-2 के 29 में से 26 वायरल प्रोटीनों का अध्ययन किया गया ताकि यह पता चल सके कि वे किन मानव प्रोटीनों के साथ घुलते-मिलते हैं।' उन्होंने बताया कि ऐसे 332 मानव प्रोटीनों का पता लगा है जो सार्स-कॉव-2 वायरल प्रोटीन के साथ घुलते-मिलते हैं। ये 69 दवाएं इन प्रोटीनों को टारगेट कर सकती हैं। शोधकर्ताओं की इस टीम में अद्वैत सुब्रमन्यन, श्रीवत्स वेंकटरामन और ज्योति बत्रा भी शामिल हैं।

आइसीएमआर ने कोविड-19 टेस्ट किट के लिए मांगीं निविदाएं

भारत में कोरोना वायरस की जांच की दिशा में तत्काल कदम उठाते हुए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने कोविड-19 की टेस्टिंग किटों की आपूर्ति के लिए निर्माताओं से निविदाएं आमंत्रित की हैं। आइसीएमआर की योजना सात लाख किटों की खरीद करने की है।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस