नई दिल्ली, प्रेट्र। कोरोना से कराह रहे देश में राहत पहुंचाने के काम में रेलवे और वायुसेना पूरे दम-खम से अपनी जिम्मेदारी निभा रही है। रेलवे की अब तक 100 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें देश के विभिन्न हिस्सों में 6,290 टन ऑक्सीजन पहुंचा चुकी हैं। रेलवे ने बुधवार को एक बयान जारी करके यह जानकारी दी।

100 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने टैंकरों के जरिये देश भर में पहुंचाई ऑक्सीजन

बयान में कहा गया कि मंगलवार को रेलवे ने 800 टन ऑक्सीजन पहुंचाई। अब तक 100 ऑक्सीजन एक्सप्रेस अपना सफर पूरा कर चुकी हैं। गत 19 अप्रैल से अब तक इन ट्रेनों ने 396 टैंकरों के जरिये करीब 6,260 टन ऑक्सीजन पहुंचाई। राज्यवार बात करें तो महाराष्ट्र को 407 टन, उप्र को 1,680 टन, मध्य प्रदेश को 360 टन, हरियाणा को 939 टन, तेलंगाना को 123 टन, राजस्थान को 40 टन, कर्नाटक को 120 टन और दिल्ली को सर्वाधिक 2,404 टन ऑक्सीजन पहुंचाई गई। मंगलवार की रात टाटानगर से 120 ऑक्सीजन लेकर ट्रेन उत्तराखंड और दूसरी ट्रेन ओडिशा के अंगुल से 40 टन ऑक्सीजन लेकर पुणे पहुंच चुकी हैं। बुधवार की रात कुछ और ऑक्सीजन एक्सप्रेस अपना सफर शुरू कर सकती हैं।

वायुसेना के विमानों ने 21 दिन में 1400 घंटों की उड़ान भरी

देश में आक्सीजन की आपूर्ति दुरुस्त करने के लिए विदेश से क्रायोजेनिक टैंकर और अन्य उपकरण लाने और देश में खाली टैंकर एक जगह से दूसरी ले जाने में वायुसेना के विमानों ने 21 दिनों में 1,400 घंटों की उड़ान भरी। वायुसेना ने इस विशेष अभियान में अपने 42 ट्रांसपोर्ट विमानों को लगा रखा था। इनमें छह सी-17, छह आइएल-76 और 30 मध्यम श्रेणी के सी-130जेएस और एन-32 विमान हैं। इस बीच वायुसेना का एक आइएल-76 विमान सिंगापुर से तीन क्रायोजेनिक आक्सीजन कंटेनर लेकर पानागढ़ के लिए रवाना हुआ।