मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। पढ़ाई की जगह उत्पात मचाने वाले एमआइटी के उपद्रवी छात्रों की पहचान कर कानूनी शिकंजा कसने की कवायद तेज कर दी गई है। नगर डीएसपी ने बताया कि कानून हाथ में लेने वाले छात्रों पर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। उपद्रवी छात्रों की पहचान कर उन सभी पर नकेल कसा जा जाएगा। पुलिस का कहना है कि प्राथमिकी के साथ-साथ उपद्रवी छात्रों का नाम गुंडा रजिस्टर में भी दर्ज किया जाएगा। इसके लिए वरीय पुलिस अधिकारियों से ब्रहमपुरा थानाध्यक्ष को निर्देश भी दिया गया है। बता दें कि करीब एक दशक पूर्व भी एमआइटी के छात्रों के उपद्रव से इलाके के लोग काफी सहमे हुए थे। इसको लेकर तत्कालीन वरीय पुलिस पदाधिकारियों के निर्देश पर एमआइटी के उपद्रवी छात्रों के नाम गुंडा रजिस्टर में दर्ज किए गए थे। इसके बाद मामला शांत था। इधर, वरीय पुलिस अधीक्षक जयंतकांत ने घटना के बाद प्राचार्य डा. सीबी महतो से उनके कक्ष में वार्ता की। कहा कि कालेज प्रशासन छात्र से पिस्टल दिलाने में सहयोग करे।

यह भी पढ़ें : सर! पत्नी बेमतलब किचकिच करती है, उसको मजा चखाना चाह रहे थे...मुजफ्फरपुर में प्रेमिका के साथ पकड़ाए युवक का अनूठा तर्क 

एसएसपी के पहुंचने पर भी छत से फेंके पत्थर

एसएसपी ने प्राचार्य को बताया कि छात्रों ने इस प्रकार का दुस्साहस दिखाया कि उनके पहुंचने के बाद भी छत से पत्थर फेंके और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। जब छात्रावास में प्रवेश करने लगे तो मुख्य द्वार में करंट प्रवाहित कर दिया। प्राचार्य ने पुलिस को छात्रावास में रह रहे छात्रों से जुड़ी तमाम जानकारी पुलिस को उपलब्ध कराई है। प्राचार्य ने कहा कि जांच में हर संभव मदद की जाएगी। एसएसपी ने कहा कि यदि पिस्टल जब्त नहीं होती है तो पुलिस अपने स्तर से छात्रों को चिह्नित कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। कहा कि शिक्षक भी अपने स्तर से छात्र से संपर्क करने का प्रयास करें कि वह पिस्टल लौटा दें। इसके बाद शिक्षकों ने छात्रों को समझाया। तब जाकर पिस्टल मिला।

पीटना नहीं है... और छात्रों पर बरसाई लाठी

छात्रावास संख्या दो से पथराव के बाद पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद छात्रों को वहां से बाहर निकाला। घटना में संदिग्ध भूमिका निभाने वाले चार छात्रों को पुलिस के जवानों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने यह रणनीति तैयार की थी कि सभी एक साथ कह रहे थे पीटना नहीं है और इसके साथ ही छात्रों पर एक साथ-10-10 लाठियां बरसा रहे थे। बारी-बारी से चार छात्रों को पुलिस ने बुरी तरह से सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। बाद में सभी को पुलिस अपने साथ ले गई।

यह भी पढ़ें : सड़क पर 11वीं की छात्रा के बाल पकड़े, घसीटते घर ले गया और दरवाजा बंद कर लिया...मुजफ्फरपुर का मामला 

सीसीटीवी फुटेज में भागता दिखा सुजीत

पुलिस ने कालेज के कंट्रोल रूम से बाहर लगे सीसी कैमरे का फुटेज निकलवाया। फुटेज में घटनाक्रम का तो स्पष्ट वीडियो नहीं दिखा, लेकिन घटना के दौरान ही नीला रंग का टीशर्ट पहने भाग रहे एक युवक की पहचान की गई है। उसके टीशर्ट पर सुजीत लिखा था। इसके साथ चार-पांच और छात्र भागते दिख रहे हैं। कालेज के रिकार्ड से इनकी भी पहचान की जा रही है।

यह भी पढ़ें : प्रेग्नेंट होने के बाद भी पुणे भेजी गई कविता...मुजफ्फरपुर की महिला सिपाही की मौत मामले में सामने आया बड़ा सच  

Edited By: Ajit Kumar