फर्रुखाबाद, जागरण संवाददाता। कानपुर-कासगंज रेल रूट पर रविवार की दोपहर कायमगंज रेलवे स्टेशन पर उस समय लोग देखते रह गए जब एक महिला अपनी 17 वर्षीय बेटी को लेकर रेल पटरी पर कूद गई। स्टेशन से छूटी ट्रेन सामने से हार्न बजाते हुए आगे बढ़ रही थी और पटरी पर मां-बेटी को देख लोग भी चीख पड़े। हालांकि ट्रेन के लोको पायलट ने सूझबूझ दिखाई।

रविवार की दोपहर कायमगंज के लालपुर पट्टी गांव निवासी महिला रीना अपनी 17 वर्षीय पुत्री रोली के साथ कायमगंज रेलवे स्टेशन के आउटर के पास पहुंची थी। इसी दौरान स्टेशन पर रुकने के बाद कानपुर से कासगंज जा रही एक्सप्रेस ट्रेन चली थी। अचानक रीना अपनी बेटी रोली को लेकर रेलवे ट्रैक पर कूद पड़ी।

बेटी के साथ महिला के रेल पटरी पर कूदते ही स्टेशन पर मौजूद लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। सामने से हार्न बजाते हुए ट्रेन धड़धड़ाते हुए आगे बढ़ रही थी। स्टेशन के प्लेटफार्म और आसपास मौजूद लोग शोर मचाते हुए महिला से पटरी से हटने की गुहार लगा रहे थे। अनसुनी करते हुए महिला पटरी से हट नहीं रही थी और ट्रेन उसकी तरफ ही बढ़ती आ रही थी।

इस बीच लोग शोर मचाते रहे लेकिन ट्रेन के लोको पायलट ने सूझबूझ का परिचय दिया। स्टेशन से छूटी ट्रेन की गति ज्यादा तेज नहीं थी, इसके चलते लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोक लिया। ट्रेन रुकने पर मां-बेटी सिर्फ दस मीटर की दूरी पर ही थीं। ये नजारा देखने वालों ने ट्रेन रुकते ही राहत की सांस ली और मां-बेटी की जान बचने पर ईश्वर का धन्यवाद किया।

इस बीच आरपीएफ के दारोगा चंद्रप्रकाश पहुंच गए और मां-बेटी को रेलवे ट्रैक से हटाकर पूछताछ की। रीना ने बताया कि पति सागेश्वर उर्फ धनधेला शराब के लती हैं और आए दिन उसे और बेटी को पीटता है। दारोगा चंद्र प्रकाश ने मां बेटी को कोतवाली पुलिस के सुपुर्द कर दिया है।

पुलिस मामले की जांच कर रही है। चौकी प्रभारी मंडी समिति अमित शर्मा ने बताया महिला रीना की शिकायत पर उसके पति धनधेला के खिलाफ कार्रवाई की गई थी।

Edited By: Abhishek Agnihotri