पटना, राज्य ब्यूरो। पर्यटन विभाग देसी और विदेशी पर्यटकों के लिए अलग-अलग रोडमैप (Roadmap for Tourists) तैयार करेगा। पर्यटकों की संख्या बढ़ाने के लिए विश्वस्तरीय सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। साथ ही अगले ढाई वर्षों की ब्रांडि‍ंंग के लिए भी नए सिरे से योजना बनेगी। पर्यटन विभाग के नए मंत्री कुमार सर्वजीत (Minister of Tourism Department Kumar Sarvjeet) ने बुधवार को अफसरों के साथ समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने नेपाल और भूटान से पर्यटकों (Tourists of Nepal and Bhutan) को आकर्षित करने के लिए कई नई योजनाओं पर काम करने का टास्क अफसरों को दिया। काठमांडू से बोधगया वाया बागडोगरा (Kathmandu to Bodhgaya Via Bagdogra) विमान सेवा शुरू करने के लिए केंद्रीय नागर विमानन मंत्रालय को पत्र लिखने का भी निर्देश दिया गया।

भूटान के पर्यटकों के लिए करें व्‍यापक प्रचार-प्रसार 

इसके अलावा भूटान से अधिक से अधिक पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए बोधगया, राजगीर, नालंदा, केसरिया, कुशीनगर जैसे पर्यटन स्थलों का व्यापक प्रचार-प्रसार करने को कहा गया। मंत्री ने अफसरों को बजटीय उपबंध को बौद्ध, सिख, जैन, हिंदू परिपथों तथा देशी-विदेशी पर्यटकों के हितलाभ के अनुसार अलग-अलग बांटकर खर्च करने की योजना बनाने का भी निर्देश दिया।

रोजगार के नए अवसर होंगे पैदा

पर्यटन मंत्री ने चाइनीज, कोरियन, बर्मीज, भुटानीज, सिंहलीज, वियतनामी आदि भाषाओं में राज्य के युवाओं को टूरिस्ट गाइड का प्रशिक्षण देने का निर्देश दिया। इससे विदेशी पर्यटकों को पर्यटन केंद्रों की जानकारी हासिल करने में आसानी तो होगी ही, रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। ऐसे युवा होटल मैनेजर, टूर-ट्रैवल आपरेटर आदि पदों पर भी अपनी सेवाएं दे सकेंगे। इस दिशा में सुनियोजित तरीके से काम करने का निर्देश मंत्री ने दिया। इस अवसर पर विभाग के प्रधान सचिव संतोष कुमार मल्ल ने मंत्री के दिशा-निर्देश के बाद अधिकारियों को संबंधित कार्ययोजना पर काम करने को कहा। बैठक में पर्यटन विकास निगम के एमडी कंवल तनुज समेत अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे। 

Edited By: Vyas Chandra