मंत्री की नाराजगी के बाद 50 शैय्या एकीकृत आयुष अस्पताल पहुंचीं दवाएं

जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : आयुष राज्यमंत्री डा. दयाशंकर मिश्रा की नाराजगी के बाद आयुष चिकित्सालय में शासन से दवाएं पहुंचनी शुरू हो गई हैं। दवाओं के अभाव में मरीजों का समुचित उपचार नहीं हो पा रहा था। इस बात का पता मंत्री के औचक निरीक्षण के दौरान डाक्टरों और अधिकारियों की बताई सच्चाई के दौरान हुआ था। उन्होंने शीघ्र सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने की बात कही थी। शासन से दवाएं उपलब्ध होने पर अस्पताल प्रशासन ने राहत महसूस करते हुए खुशी जाहिर की है। मौसम परिवर्तन के चलते इन दिनों मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। दवाएं उपलब्ध होने से मरीजों को अब कहीं भटकना नहीं पड़ेगा।

जिले के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए अकबरपुर स्थित बनारअलीपुर (शहजादपुर) में 50 शैय्या एकीकृत आयुष चिकित्सालय का शुभारंभ करीब आठ माह पूर्व किया गया था। स्वास्थ्य सेवाओं की हकीकत परखने के लिए 28 जुलाई को आयुष राज्यमंत्री डा. दयाशंकर मिश्र ने अस्पताल का औचक निरीक्षण किया था। आधी अधूरी व्यवस्थाओं और बिन दवा के अस्पताल संचालन कराने पर उन्होंने खेद प्रकट करते हुए आयुष सोसाइटी के विशेष सचिव सुखलाल भारती को फोन कर नाराजगी व्यक्त करते हुए तत्काल व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए थे साथ ही यह भी कहा था कितना पालन किया गया, सच्चाई जानने के लिए दोबारा जल्द ही निरीक्षण करने आएंगे।

अधीक्षक डा. बृजेश कुमार आर्य ने बताया कि दवाओं के साथ अधूरी व्यवस्थाओं के साथ आरंभ किए अस्पताल में तैनात डाक्टरों और कर्मचारियों को मरीजों की संख्या दिन ब दिन बढ़ने पर परेशानी हो रही थी। एक ही छत के नीचे आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक व यूनानी चिकित्सा का लाभ मिलने के कारण मरीजों का आकर्षण बढ़ रहा है। उन्होंने बताया कि जरूरत के मुताबिक शासन से आवश्यक दवाएं उपलब्ध हो चुकी हैं। दवाओं को सूचीबद्ध किया जा रहा है। मौसम गर्म होने के कारण मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। अब उनको बेहतर उपचार मिल सकेगा।

Edited By: Jagran