लुधियाना : पंजाब की व्यापारिक राजधानी लुधियाना में साइकिलों के कलपुर्जे एवं साइकिल बनाने वाले पहला कारखाना स्थापित करने वाले मनमोहन सिंह मारटन का निधन हो गया। उनका जन्म 6 दिसंबर 1941 को साहीवाल (पाकिस्तान) में हुआ था। देश के विभाजन के बाद वह अपने परिवार सहित लुधियाना आ गए। पिता भगवान सिंह के निधन के बाद अपने सारे परिवार का पालन पोषण मारटन ने ही किया। उन्होंने 1950 में लुधियाना में प्रभात नाम से साइकिल का कारखाना खोला। उनके कारखाना लगाने के कुछ समय बाद हीरो एवं एवन साइकिल जैसी नामी कंपनियों ने कारखाने स्थापित किए। उन्होंने अपने कारखाने में 3 पहिया साइकिल तैयार किया, जिसे देखने के लिए देश के पहले राष्ट्रपति डा. राजेंद्र प्रसाद ने उस समय के पंजाब के मुख्यमंत्री प्रताप सिंह कैरों के साथ मारटन के कारखाने का दौरा किया एवं उन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया।

मारटन एशिया की सबसे बड़ी एसोसिएशन यूनाइटेड साइकिल एंड पाटर्स मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन के दो बार प्रचार सचिव, एक बार उप प्रधान एवं एक बार प्रधान बने। वह अच्छे कपडे़ पहनने, टाई बांधने, जेब में लाल गुलाब का फूल रखने, घड़ी बांधने एवं अच्छे जूते पहनने के शौकीन थे। उनके अंतिम संस्कार के समय भी उन्हें इसी प्रकार तैयार किया गया। उनकी आत्मिक शांति के लिए रखे गए पाठ का भोग 19 अगस्त 2022 दिन शुक्रवार को बाद दोपहर 2 से 3 बजे तक गुरुद्वारा सुखमणि साहिब, अर्बन एस्टेट, दुगरी, फेस-2 लुधियाना में होगा।

Edited By: Jagran