महज चार सौ रुपये की छिनतई के लिए की गई कुणाल की हत्या

संसू, आदित्यपुर : फूड डिलवरी का काम करने वाले कुणाल मल्लिक की हत्या महज चार सौ रुपये की छिनतई के लिए की गई। बुधवार को इस मामले का खुलासा थाना प्रभारी तंजील खान ने किया। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। थाना प्रभारी ने बताया कि बुधवार की सुबह आरपीएफ से जानकारी मिली कि टाटानगर स्टेशन पर दो संदिग्ध चाकू के साथ पकड़े गए हैं। इसके बाद आरआइटी थाना की पुलिस मौके पर पहुंची। वहां आरपीएफ से जानकारी मिली कि दोनों आरोपितों ने ही कुणाल पर हमला किया था। पुलिस ने आरोपितों को चालान कर दिया है। उन्होंने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार आरोपित अजीत झा उर्फ तिरछी व दीपक दास ने मृतक कुणाल मल्लिक पर छिनतई करने की नीयत से हमला किया था। 15 अगस्त की रात इस घटना को अंजाम देने के लिए दोनों आरोपित घात लगाकर बैठे हुए थे। मृतक कुणाल मल्लिक अपने पिता हरि रमण मल्लिक के साथ फूड डिलीवरी करने जा रहा था। उस समय मृतक के पिता बाइक पर पीछे बैठे हुए थे। दोनों आरोपितों ने कुणाल को हाथ देकर रोका। उसके बाद चाकू तका भय दिखाते हुए कुणाल मलिक से खाना का पैकेट छीन लिया। उसके बाद उससे चार सौ रुपये की मांग की तो कुणाल के साथ हाथापाई होने लगी। इसी बीच आरोपित अजीत झा उर्फ तिरछी ने कुणाल पर चाकू से हमला कर दिया। इस बीच उसके पिता बीच-बचाव करने आए, लेकिन आरोपितों के आगे उनकी एक नहीं चली। कुणाल को चाकू लगने के बाद उसके पिता हरि रमण मल्लिक शोर मचाने लगे तो दोनों आरोपित भाग गए। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घायल कुणाल को इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल ले गई। थाना प्रभारी ने बताया कि दोनों आरोपिकों ने इस मामले में संलिप्तता स्वीकार कर ली है। पुलिस ने इस घटना में प्रयुक्त चाकू व मोबाइल फोन भी जब्त कर लिया है। उन्होंने बताया कि दोनो आरोपित 2021 में छिनतई का प्रयास करने के दौरान हमला करने के आरोप में जेल जा चुका है। छापेमारी अभियान में थाना प्रभारी समेत संजय हेंब्रम, अभिषेक प्रताप, कन्हैया प्रजापति, संजय सरदार, कादिर हुसैन आदि शामिल थे।

जिले में कट्टाराज पर नहीं लग रही लगाम : सरायकेला-खरसांवा जिले में अपराधियों का मनोबल काफी बढ़ गया है। पुलिस आपराधिक घटनाओं पर नियंत्रण नहीं कर पा रही है। इससे आम लोग स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। आदित्यपुर थाना क्षेत्र में 13 अगस्त की देर शाम थाना से महज कुछ दूरी पर सूरज तांती नामक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस अब तक इस मामले में शामिल अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। इसी दिन कांड्रा थाना क्षेत्र स्थित नीलांचल कंपनी में अज्ञात अपराधियों ने हमला कर सुरक्षाकर्मी को घायल कर दिया था। टीएमएच में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। आरक्षी अधीक्षक आनंद प्रकाश ने स्वयं घटनास्थल का निरीक्षण कर इस मामले में शामिल अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार करने का दावा किया था, लेकिन अब तक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हुई। वहीं आरआइटी थाना क्षेत्र स्थित मार्ग संख्या-19 में 15 अगस्त की रात चोकू से गोदकर फूड डिलीवरी ब्वाय की हत्या कर दी गई। हालांकि इस मामले में शामिल दो आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। सूरज तांती की हत्या मामले में स्थानीय लोगों ने बुधवार को थाना परभारी से मुलाकात कर अपराधियों को गिरफ्तार करने की मांग की है। पांच दिन बाद भी अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने से स्थानीय लोगों में नाराजगी है। उन्होंने थाना प्रभारी को चेतावनी देते हुए कहा कि सूरत तांती की हत्या में शामिल अपराधियों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो आंदोलन किया जाएगा।

Edited By: Jagran