कानपुर, जागरण संवाददाता। कर्नलगंज थाने में तैनात जिस हेड कांस्टेबल को वसूली के आरोप में चार दिन पहले लाइन हाजिर किया गया था, उसे स्वतंत्रता दिवस पर सम्मान दिया गया। हेड कांस्टेबल प्रदीप सिंह को डीसीपी क्राइम सलमान ताज पाटिल ने आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया है।

कर्नलगंज निवासी चूड़ी कारोबारी लियाकत 26 जुलाई को अपने घर पर दोस्त बबलू, सीबू और सलमान के साथ ताश खेल रहे थे। इस दौरान कर्नलगंज थाने के हेड कांस्टेबल प्रदीप सिंह, सिपाही बलवेद्र पाल, श्याम सिंह और धीरेंद्र मौके पर पहुंचे और एक लाख रुपए की मांग की।

लियाकत ने असमर्थता जताई तो नई सड़क बवाल मामले में जेल भेजने की धमकी दी और फिर भी 40 हजार रुपए वसूलकर छोड़ दिया था। कारोबारी की शिकायत पर संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने जांच के आदेश दिए थे प्रथम दृष्टया आरोप सही पाए जाने पर हेड कांस्टेबल समेत चार सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया गया था। इसकी जांच एसीपी सीसामऊ निशांक शर्मा कर रहे है।

वसूली के आरोप में लाइन हाजिर चल रहे हेडकांस्टेबल प्रदीप सिंह को रविवार को आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर डीसीपी क्राइम सलमान ताज पाटिल ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस मौके पर पुलिस आयुक्त बीपी जोगदंड समेत आला अधिकारी भी मौके पर मौजूद रहे।

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया पुरस्कारों की घोषणा काफी पहले हो गई थी जो कि सिपाही को बाद में लाइन हाजिर किया गया है मामले की जांच कराई जाएगी।

Edited By: Abhishek Agnihotri