1.फतेहपुर में एसपी आवास से चंद कदम दूर ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी Flipkart की एजेंसी में डाका, 18 लाख लूट ले गए बदमाश

फतेहपुर में बदमाश अब बेखौफ हो गए हैं, सोमवार रात पुलिस को सीधी चुनौती देते हुए डीएम और एसपी आवास के पास स्थित आनलाइन शापिंग कंपनी फ्लिपकार्ट के ऑफिस में सोमवार की रात डकैती की वारदात को अंजाम दिया। बदमाश करीब 18 लाख रुपये का कैश लूट ले गए। सनसनीखेज लूट की खबर मिलते ही एसपी राजेश कुमार सिंह घटनास्थल पहुंचे। स्वाट (स्पेशल वेपन्स एंड टैक्टिक्स) व सर्विलांस की संयुक्त पुलिस टीम ने सीसीटीवी (क्लोज्ड सर्किट टेलीवीजन) फुटेज खंगाले तो तीन नकाबपोश बदमाश दिखाई दिए। संदेह के आधार पर पुलिस ने कुछ संदिग्ध लोगों को उठाकर पूछताछ शुरू की है। 

2.Kanpur Nagar Nigam कैटिल कैचिंग दस्ते पर मारपीट और पथराव में पांच नामजद समेत 30 पर मुकदमा, हरकत में आई पुलिस

आजादी के अमृत महोत्सव यात्रा को लेकर रास्ते से आवारा जानवरों को पकड़ने आए कैटिल कैचिंग दस्ते पर पथराव करने वालों पर अब कार्रवाई शुरू हुई है। बादशाहीना पुलिस ने दस्ते के कर्मचारियों से मारपीट और पथराव करते हुए जानवर छुड़ाने के मामले में पांच नामजद समेत 30 पर मुकदमा दर्ज किया है। नगर निगम के सफाई व खाद्य निरीक्षक डा. अमरीश सचान ने बताया कि आजाद के अमृत महोत्सव को लेकर नगर निगम की तिरंगा यात्रा निकलने को लेकर डिप्टी पड़ाव चौराहे से कैटिल कैचिंग दस्ते ने 5 घोड़े व 7 गाये पकड़ी थी। दस्ता उन्हें लेकर जा रहा था इस दौरान बादशाहीनाका के पास दस्ते के पहुंचते ही सैफ,नटवा, सनी, अमान व सानू समेत 30 लोगों ने मारपीट पथराव करते हुए सभी जानवरों को छुड़ा लिया। आरोपितों ने कर्मचारियों से मारपीट कर उन्हें जातिसूचक गालियां दी और दो के मोबाइल भी लूट लिये। एसीपी कलक्टरगंज शिखर ने बताया कि खाद्य निरीक्षक की तहरीर पर मारपीट, लूट, बलवा व एससीएसटी एक्ट में रिपोर्ट दर्जकर कार्रवाई की जा रही है।

3.Kanpur News: मोबाइल पर कर रहा था बात, रेलिंग न होने से दो मंजिल से नीचे गिरा युवक, चली गई जान

नवाबगंज क्षेत्र में मोबाइल पर बातचीत करने के दौरान साेमवार देर रात छत पर रेलिंग न होने के चलते दो मंजिल से युवक नीचे आ गिरा। शोर सुनकर पड़ोसी और स्वजन दौड़े और अस्पताल ले गये। जहां सिर में आई गंभीर चोटों के चलते उनकी मौत हो गयी। नवाबगंज के मैनावती मार्ग स्थित गोपालजी धाम सोसाइटी निवासी 40 वर्षीय महेंद्र प्रताप सिंह के परिवार में बेटी कशिश और बेटा धैर्य है दो साल पहले पत्नी अर्चना का कैंसर से निधन हो गया था। छोटे भाई आशीष ने बताया कि सोमवार देर शाम महेंद्र मकान की दूसरी मंजिल की छत पर किसी से मोबाइल पर बातचीत कर रहे थे। इस दौरान छत पर रेलिंग न होने और अंधेरे के चलते वह देख नहीं सके और दूसरी मंजिल से नीचे आ गिरे। शोर सुनकर पड़ोसी व स्वजन दौड़े और लहुलूहान हालत में एलएलआर में भर्ती कराया। जहां देर रात उपचार के दौरान उनकी मौत हो गयी।

4.Kanpur Crime News : पिस्टल के साथ युवक का वीडियो वायरल, पुलिस कर रही सिपाही के बेटे की तलाश

इन दोनों इंटरनेट मीडिया के सोशल प्लेटफार्म फेसबुक और इंस्टाग्राम पर रील बनाकर पोस्ट करने का ट्रेंड युवाओं के सिर चढ़कर बोल रहा है। ऐसा ही पिस्टल के साथ युवक का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है। ये युवक सिपाही का बेट बताया जा रहा है, जिसकी तलाश पुलिस ने शुरू कर दी है। फेसबुक और इंस्टाग्राम पर वीडियो बनाकर पोस्ट करके लाइक लेने की होड़ में युवा कुछ भी करने को तैयार हैं। सोमवार को चकेरी के कोयला नगर में एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ है, जिसमें मुंह में सिगरेट लगाए युवक पिस्टल लेकर उसमें मैग्जीन लगा रहा है और फिर सामने कैमरे की तरफ निशाना साध रहा है। वीडियो को ट्वीट करके अधिकारियों से शिकायत की गई है। इसमें शिकायकर्ता ने युवक को अपने सिपाही पिता की सर्विस रिवाल्वर लेकर वीडियो बनाने की जानकारी दी है। उसने पुलिसकर्मी का बेटा होने कारण खुलेआम दबंगई करने और पुलिस द्वारा उसपर कार्रवाई नहीं करने की बात कही है। थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह ने बताया कि युवक के बारे में जानकारी की जा रही है। वायरल वीडियो में पीआरवी 420 में तैनात हेड कांस्टेबल का बेटा बताया जा रहा है। 

5.स्कूल के टॉयलेट में 19 घंटे छठवीं के छात्र के कैद रहने पर प्रधानाध्यापक गिरफ्तार, नौ दिन बाद सामने आई तस्वीर

ब इसे लापरवाही कहेंगे या अमानवीय व्यवहार..। स्कूल के शौचालय में कैद हुए छठवीं के छात्र को 19 घंटे बाद बदहवास हालत में बाहर निकाला जा सका। नौ दिन बाद जब मामले की फोटो वायरल हुआ तो प्रधानाध्यापक पर केस दर्ज करके गिरफ्तार किया गया है। मामला बेला क्षेत्र के गांव पिपरौली शिव का है, यहां उच्चतर प्राथमिक विद्यालय कंपोजिट में पांच अगस्त को छठवीं का छात्र नित्य क्रिया के लिए शौचालय में गया था। इस बीच छुट्टी की घंटी बजने पर सभी विद्यार्थी बाहर निकल गए लेकिन वह शौचालय में ही रह गया। शिक्षकों ने उसके बाहर आने से पहले ही कक्षाओं, शौचालय और स्कूल गेट पर ताला डाल दिया और घरों को चले गए। देर शाम तक जब वह घर नहीं पहुंचा तो चिंतित घरवाले पूरी रात उसकी तलाश करते रहे। दूसरे दिन सुबह विद्यालय के बाहर घरवाले और ग्रामीण मौजूद थे और शिक्षकों के आने पर स्कूल का ताला खुलवाया गया। शौचालय में बंद छात्र को बदहवास हालत में निकाला गया, जिसपरे ग्रामीणों के साथ आक्रोश जताया लेकिन शिक्षकों ने गलती मानते हुए उस समय मामला शांत करा दिया। 

Edited By: Abhishek Verma