आगरा, जागरण टीम। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के उत्सव की तैयारियां तेज हो गई हैं। इस बार श्रीकृष्ण जन्मस्थान में गर्भगृह को प्राचीन कारागार का रूप दिया जाएगा। इसमें गर्भगृह के प्रवेश व निकास द्वारों पर लकड़ी और प्लास्टिक के पाइप से कृत्रिम सलाखें बनाई जाएंगी, जो श्रद्धालुओं को बिल्कुल कारागार का अहसास कराएंगी। इन सलाखों के पास पहरेदार भी होंगे, जो जन्म के समय सोने की लीला का प्रदर्शन करेंगे।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 19 अगस्त को है। पहली बार गर्भगृह को कारागार का रूप दिया जा रहा है। गर्भगृह के अंदर के साथ ही बाहर और योगमाया मंदिर तक भव्य सजावट की जाएगी। श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के सचिव कपिल शर्मा ने बताया कि इस बार जन्मोत्सव को और भव्यता देने की रूपरेखा तैयार की गई है। कान्हा की लीलाओं का मंचन करने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों से 450 कलाकारों को बुलाया गया है।

उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद ने इसकी व्यवस्था की है। 16 छोटे मंच जिले में अलग-अलग स्थानों पर बनाए जाएंगे। सांस्कृतिक कार्यक्रम 18 व 19 अगस्त को होंगे। इसमें सात मंच जन्मभूमि के आसपास होंगे। प्रत्येक मंच पर करीब 15-20 कलाकार भगवान श्रीकृष्ण-राधा की लीलाओं को जीवंत करेंगे। जन्मभूमि पर एक मुख्य मंच का निर्माण किया जाएगा। यहां पर भी करीब 150 कलाकार प्रस्तुति देंगे।

19 अगस्त को शोभायात्रा भी निकाली जाएगी। परिषद के डिप्टी सीईओ पंकज वर्मा ने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों और सजावट के लिए शासन से डेढ़ करोड़ रुपये स्वीकृत हुए हैं। यमुना घाट और चौराहे भी सजाए जाएंगे। जन्मभूमि जाने वाले मार्गों पर भी सजावट की जाएगी। श्रद्धालु यहां के आकर्षण को यादों में सहेज सकें, इसके लिए सेल्फी प्वाइंट बनाए जाएंगे। 

मुख्यमंत्री योगी के आने की चर्चा

जन्मस्थान पर होने वाले जन्माष्टमी महोत्सव में इस बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आने की भी चर्चाएं चल रही हैं। क्योंकि वे पिछले वर्षाें में भी जन्माष्टमी मनाने यहां आते रहे हैं। 

Edited By: Prateek Gupta