पटना, जागरण टीम। Azadi Ka Amrit Mahotsav: देश के 76वें स्‍वाधीनता दिवस को लेकर पटना के लोगों में जबर्दस्‍त उत्‍साह है। स्‍वतंत्रता दिवस के एक दिन पहले ही पटना तिरंगे के रंग में रंग गया है। पटना के प्रमुख रेलवे स्‍टेशनों को आकर्षक ढंग से सजाया गया है। बिहार विधानसभा परिसर, गांधी मैदान, कारगिल स्‍मृति चौक सहित अन्‍य सरकारी कार्यालयों और परिसरों को भी सजाया जा रहा है। राजनीतिक दल और आम लोग भी अपने-अपने तरीके से स्‍वतंत्रता दिवस की तैयारी में जुटे हैं। 

पटना के मगध महिला कालेज में स्वतंत्रता दिवस को लेकर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। छात्राओं ने समूह नृत्य, एकल नृत्य, एकल गान, समूह गान, काव्य पाठ आदि की मनमोहक प्रस्तुति दी। समूह नृत्य में समृद्धि एवं टीम, एकल नृत्य में प्रीति, काव्य पाठ में प्रीति, एकल गान में रेणुका समूह गान में संगीत विभाग की टीम ने श्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

कालेज आफ कामर्स आर्ट्स एंड साइंस, पटना में अमृत महोत्सव पर डिबेटिंग सोसाइटी और कल्चरल कमेटी द्वारा भाषण, निबंध, क्विज और रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का  उद्घाटन प्रधानाचार्य प्रो. इंद्रजीत प्रसाद राय ने  किया ।

पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के एनएसएस के कार्यकर्ता द्वारा तिरंगा उत्सव का आयोजन किया गया। एनएसएस पदाधिकारी डा. सुजीत कुमार दूबे, कुलानुशासक प्रो. मनोज कुमार के साथ सैकड़ों की संख्या में छात्र- छात्राओं ने इसमें भाग लिया। पटना वीमेंस कालेज में भी छात्राएं उत्‍साहित दिखीं।

आजादी के अमृत महोत्सव पर हर घर तिरंगा अभियान के तहत शनिवार को विभिन्न स्थानों से तिरंगा यात्रा निकाल घर-घर में तिरंगा फहराने का आह्वान किया। सिद्धपीठ छोटी पटनदेवी से दोपहर दो बजे निकली तिरंगा यात्रा शाम पांच बजे शक्तिपीठ बड़ी पटनदेवी पहुंची। छोटी पटनदेवी में भारत माता के पूजन करने के बाद निकली तिरंगा यात्रा अशोक राजपथ होते बड़ी पटनदेवी पहुंची।

तिरंगा यात्रा में शशि शेखर रस्तोगी, आचार्य विवेक द्विवेदी, मिथिलेश जायसवाल, ऋषिकेश कुशवाहा, सुजीत कसेरा, अरूण मिश्रा, राजेश शुक्ला टिल्लू, डा. राजीव गंगौल, विजय गुप्ता, कन्हाई पटेल समेत अन्य युवा बाइक पर तिरंगा लहराते घर-घर में तिरंगा फहराने का आह्वान करते चल रहे थे। बड़ी पटनदेवी में महंत विजय शंकर गिरी ने तिरंगा यात्रा का स्वागत किया। 

उधर भाजपा नेताओं ने लोदी कटरा पुलिस चौकी के समीप से तिरंगा यात्रा निकालकर घर-घर अभियान चलाया। आयोजन में पूर्व पार्षद धर्मेंद्र प्रसाद मुन्ना, मनोज चंद्रा, ओंकार आनंद, अनुज कुमार ङ्क्षसह, मनोज ङ्क्षसह, ओम प्रकाश निषाद, हरिकांत झा समेत अन्य थे। अगमकुआं मंडल की ओर से वार्ड 57 में तिरंगा यात्रा निकाली गई। यात्रा में विनय केसरी, राजू गुप्ता, अजय पंडित, दया नरेंद्र, प्रकाश, अभिषेक, रूकमिणी देवी, राजेंद्र केसरी, दिलीप लहेरी, लक्ष्मी पासवान समेत अन्य थे। 

गायघाट सेवा समिति व स्वास्थ्य जागरूकता मिशन के तहत 75 मीटर के तिरंगा के साथ दर्जनभर ट्रालियों के साथ सोमवार को तिरंगा यात्रा निकाली जाएगी। यह यात्रा कारगिल चौक गांधी मैदान से निकल कर गायघाट पहुंचेगी। यात्रा में स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़ी झांकियां भी होंगी। यह जानकारी अध्यक्ष गंगाधर गिरि, संयोजक डा. अजय कुमार एवं डा. सर्वदेव प्रसाद ने शनिवार को दी। आयोजन को लेकर 51 सदस्यीय कमेटी गठित की गयी है। 

हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) 40वीं वाहिनी द्वारा अनुग्रह नारायण कालेज पटना में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ एनसीसी कैडेट द्वारा गार्ड आफ आनर से किया गया।

उन्होंने शिक्षक एवं विद्यार्थियों को 13 से 15 अगस्त तक अपने-अपने घरों पर तिरंगा फहराने के लिए प्रेरित किया। इसमें 40वीं वाहिनी के उप-कमांडेंट अजीत सिंह व अन्य बलकर्मी मौजूद रहे। इसके अलावा पटना के बल अधिकारियों द्वारा जेडी वीमेंस कालेज, पटना महिला कालेज, संत कैरेंस पब्लिक स्कूल और दीघा हाई स्कूल के अध्यापक, विद्यार्थियों और कर्मचारियों को राष्ट्रीय ध्वज वितरित किए गए।

प्रवक्ता ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव पर तिरंगा के प्रति लोगों में जागरूकता के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य लोगों में देशभक्ति की भावना को जगाना भी है। 

आजादी के अमृत महोत्सव पर वीर कुंवर सिंह संस्थान द्वारा शनिवार को तिरंगा यात्रा निकाली गई। हर घर पर तिरंगा कार्यक्रम के तहत निकाली गई इस यात्रा का शुभारंभ संस्थान के अध्यक्ष सह विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष पद्मश्री डा. आरएन सिंह ने किया।

उनके नेतृत्व में संस्था के पदाधिकारी महात्मा गांधी नगर, कांटी फैक्ट्री रोड, भूतनाथ रोड, बहादुर हाउसिंग कालोनी सेक्टर-2 आदि मोहल्लो में गए। इस दौरान लोगों को आजादी के महत्व के बारे में बताया गया और उनसे अपने घरों पर राष्ट्रीय झंडा लगाने की अपील की गई। 

Edited By: Shubh Narayan Pathak