नई दिल्‍ली, एजेंसी। स्वतंत्रता दिवस समारोह को निर्विघ्‍न धूमधाम से मनाने के लिए पूरे देश में सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम किए गए हैं। समाचार एजेंसी एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली से लेकर जम्मू-कश्मीर तक सुरक्षा चाकचौबंद रहेगी। स्‍वतंत्रता दिवस समारोह में कोई बाधा न आए इसके लिए राज्यों में पुलिस तंत्र को सतर्क कर दिया गया है। दिल्ली में जहां प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करेंगे उसकी सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस की ओर से 10,000 से अधिक जवानों को तैनात किया गया है।

एक अधिकारी ने कहा कि देश की वित्तीय राजधानी मुंबई की सड़कों पर ड्रोन रोधी प्रणालियों की तैनाती की गई है। महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। यही नहीं अधिकारियों को सक्रिय रहने को कहा गया है। सुरक्षा लिहाज से ऑपरेशन ऑल आउट चलाया गया जिसमें होटल, वाहनों और रोड बैरिकेडिंग की जांच शामिल है। हिस्ट्रीशीटर और असामाजिक तत्‍वों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

कश्मीर में मुख्य समारोह शेर-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में होगा। इसकी अध्यक्षता उपराज्यपाल मनोज सिन्हा करेंगे। ड्रोन, स्नाइपर और सादे कपड़ों में पुलिसकर्मियों को निगरानी के लिए तैनात किया गया है। जम्‍मू-कश्‍मीर में वाहनों की सघन जांच हो रही है। कई जगहों पर पुलिस और अर्धसैनिक बलों को भारी संख्या में तैनात किया गया है ताकि आतंकवादियों द्वारा समारोह को बाधित करने की किसी भी कोशिश को विफल किया जा सके।

श्रीनगर में किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए ऊंची इमारतों पर शार्प शूटर तैनात किए गए हैं। श्रीनगर शहर के प्रमुख बाजारों में उपद्रवियों, अपराधियों और अराजक तत्वों की तलाश में हवाई निगरानी की जा रही है। पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में भी सुरक्षा के पुख्‍ता बंदोबस्‍त किए गए हैं। प्रतिबंधित उग्रवादी समूहों उल्फा-आई और नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड (एनएससीएन) द्वारा स्वतंत्रता दिवस समारोह का बहिष्कार करने और पूर्वोत्तर के पांच राज्यों में बंद के आह्वान के बाद सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

अगरतला में अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है। बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि समारोह के दौरान शांति सुनिश्चित करने के लिए 856 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा को हाई अलर्ट पर रखा गया है। वहीं असम में परेड मैदानों और अन्य संवेदनशील स्थानों पर बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। असम में मुख्य स्वतंत्रता दिवस समारोह गुवाहाटी के खानापारा में पशु चिकित्सा कॉलेज के खेल के मैदान में आयोजित किया जाएगा।

पंजाब और उत्तर प्रदेश (यूपी) में पुलिस बलों ने स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकवादी समूहों से जुड़े संदिग्धों की कुछ प्रमुख गिरफ्तारियां भी की हैं। यूपी में पुलिस ने एक 19 वर्षीय शख्‍स को कथित तौर पर आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद के साथ संबंध रखने और सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तान और अफगानिस्तान में आकाओं के संपर्क में रहने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पंजाब पुलिस ने रविवार को दावा किया कि उसने पाकिस्तान आईएसआई समर्थित आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर चार लोगों को गिरफ्तार किया।

वहीं राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस शाखा ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के लिए जासूसी करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों भारतीय सेना से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां आइएसआइ तक इंटरनेट मीडिया के माध्यम से भेजते थे। दोनों के बैंक खातों में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआइ) के जरिये रुपये भी ट्रांसफर हुए हैं। मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर इनको गिरफ्तार किया गया है।

Edited By: Krishna Bihari Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट