जागरण संवाददाता, नैनीताल : Independence day 202 : स्वतंत्रता दिवस के पर्यटन सीजन में सरोवर नगरी में सैलानियों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। नैनीताल के होटल सैलानियों और पार्किंग स्थल वाहनों से पटे रहे। उम्मीद से अधिक पर्यटक पहुंचने पर पुलिस का यातायात प्लान भी चरमरा गया। पर्यटक वाहनों को शहर के बाहर रोक शटल से शहर तक लाया गया। इस दौरान एंट्री प्वाइंट व शहर के भीतर दिनभर वाहन रेंगते रहे।

शहर में सैलानियों की भीड़ पहुंचना सामान्य बात है, लेकिन इस कदर सैलानी टूट पड़ेंगे, इसका जरा भी गुमान नहीं था। हालाकि पिछले तीन दिन से सैलानियों का निरंतर आगमन जारी था और रविवार को भी भारी संख्या सैलानी शहर पहुंचे। जिस कारण नगर के सरकारी व गैर सरकारी होटल सैलानियों से पैक हो गए। जिन्हें होटल नहीं मिला, उन्हे समीपवर्ती पर्यटन स्थलों की शरण लेनी पड़ी या फिर वह निराश होकर अपने शहर को वापस लौट गएं।

स्नो व्यू, केव गार्डन, वॉटर फॉल, बॉटनिकल गार्डन, हिमालय दर्शन पूरे दिन सैलानियों से पटे रहे। माल रोड में सैलानियों की चहल पहल की भारी भीड़ दिखाई दी। नौका विहार करने वाले सैलानियों की संख्या भी अपेक्षा से कहीं अधिक रही। बारिश के दौरान भी सैलानी नौका विहार करते नजर आए। इस बीच दिन के समय मूसलाधार बारिश में सैलानियों की खूब फजीहत हुई और जहां के तहा ठिठकने को मजबूर हो गए।

इधर पंगोठ, बजून, खुर्पाताल, रामगढ़, मुक्तेश्वर व भीमताल आदि पर्यटन स्थलों में भी सैलानियों की भारी भीड़ जुटी रही। सैलानियों की भारी पहुंचने को लेकर पर्यटन कारोबार से जुड़े व्यवसाई बेहद खुश हैं। होटल एसोसिएसन के उपाध्यक्ष दिग्विजय सिंह बिष्ट के अनुसार स्वतंत्रता दिवस के वीकेंड पर आने से नगर में सैलानियों की भीड़ पहुंची है।

15 अगस्त को लेकर पुलिस ने नहीं बनाया प्लान

15 अगस्त से पूर्व दो दिन का अवकाश होने के कारण कारोबारी भारी संख्या में पर्यटक उमड़ने की उम्मीद जता रहे थे। मगर यातायात और अन्य प्रबंधन को लेकर पुलिस ने कोई पूर्व योजना नहीं बनाई। जिस कारण पर्यटकों को भारी फजीहत उठानी पड़ी। वाहनों का दबाव बढ़ने के बाद पुलिस द्वारा पर्यटक वाहनों को एंट्री प्वाइंट पर रोक शटल सेवा से शहर भेजा गया।

मगर एंट्री प्वाइंट पर पुराने और सीजन के अनुभवी पुलिसकर्मी तैनात नहीं होने के कारण फजीहत उठानी पड़ी। रोके जाने पर पर्यटक होटल में बुकिंग होने की बात कहकर शहर में एंट्री पाते मिले। मगर हस्तांतरित होकर नये आए कर्मियों को शहर और होटलों की पर्याप्त जानकारी नहीं होने के कारण परेशानी उठानी पड़ी।

बाइपास में पार्क हुए वाहन, सड़क पर वाहनों की लंबी कतार

शहर में वाहनों का दबाव बढ़ने के बाद सुबह से ही पुलिस ने हल्द्वानी रोड से आने वाले वाहनों को रूसी दो और कालाढूंगी रोड से आने वाले वाहनों को नारायण नगर क्षेत्र में रूसी एक पर रोक दिया। भवाली की ओर से आने वाले वाहनों को भी वाया ज्योलीकोट नैनीताल को भेजा गया। ऐसे में हल्द्वानी रोड में रूसी से बल्दियाखान तक लंबा जाम लगा रहा। वहीं शहर के भीतर प्रवेश पाने के लिए पर्यटक वाहन चक्कर काटते रहे।

Edited By: Skand Shukla