राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भारत की आजादी के लिए अपना सर्वस्व बलिदान करने वाले लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए सोमवार को कहा कि भारतीयों को देश के लोकतांत्रिक मूल्यों की प्रतिष्ठा को बनाए रखना चाहिए। 76वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ममता ने कहा कि भारतीयों को स्वतंत्रता हासिल करने वाले अपने पूर्वजों की पवित्र विरासत को भी संरक्षित रखना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कड़ी सुरक्षा के बीच कोलकाता के रेड रोड पर स्वतंत्रता दिवस के मुख्य कार्यक्रम में हिस्सा लिया और सुबह करीब 10 बजे झंडोत्तोलन किया। साथ ही परेड की सलामी ली। ममता ने इस मौके पर सेवा के दौरान उत्कृष्ट व सराहनीय कार्य करने वाले पुलिस कर्मियों व अधिकारियों को मुख्यमंत्री पुलिस पदक भी प्रदान किया। समारोह के दौरान राज्य के कई वरिष्ठ मंत्रियों समेत वरिष्ठ अधिकारियों व अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

बता दें कि इस बार दो साल बाद बड़े स्तर पर रेड रोड पर स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन हुआ। कोरोना के चलते इससे पहले साल 2020 में 2021 सीमित स्तर पर कार्यक्रम आयोजित हुआ था। दो साल बाद आम लोगों को भी इस बार समारोह में शामिल होने की अनुमति दी गई थी। इसके चलते लोगों में भारी उत्साह दिखा।रेड रोड पर परेड और झांकियां भी निकाली गईं। राज्य सरकार की कई परियोजनाओं की झांकियां निकाली गईं। इससे पहले ममता ने ट्वीट किया, आज हम अपने पूर्वजों के सर्वोच्च बलिदान को याद करते हैं, जिसके कारण हमारा देश आजाद हुआ। हमें उनकी पवित्र विरासत को संरक्षित रखना चाहिए और अपने लोकतांत्रिक मूल्यों तथा लोगों के अधिकारों की प्रतिष्ठा को बरकरार रखना चाहिए।

राज्यभर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम

इधर, स्वतंत्रता दिवस पर कोलकाता समेत राज्यभर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक स्वतंत्रता दिवस पर कोलकाता में सुरक्षा के लिए करीब 3,000 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। वहीं, स्वतंत्रता दिवस समारोह को लेकर रेड रोड व आसपास लगभग 1,200 पुलिसकर्मिर्यों की तैनाती रही। इधर, महानगर के महत्वपूर्ण स्थानों, जैसे प्रमुख मंदिरों, शापिंग माल, नामचीन इमारतों पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। 

Edited By: Priti Jha