रांची, जासं। Independence Day 2022 आज देश अपना 76वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सुबह नौ बजे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन रांची के मोरहाबादी मैदान में झंडारोहण किया। परेड के निरीक्षण के बाद मुख्यमंत्री ने झंडारोहण किया।

स्वतंत्रता दिवस पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का संबोधन...

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झंडारोहण के बाद अपने संबोधन में कहा कि राज्य सरकार ने यह लक्ष्य तय किया है कि आजादी के संघर्ष में बलिदान देनेवाले झारखंड के वीर सपूतों के सपनों का झारखंड बनाएंगे। कहा, सरकार 'विकासमूल मंत्र, आधार लोकतंत्र' के दृष्टिकोण के साथ एक सशक्त राज्य के निर्माण हेतु निरंतर प्रयत्नशील है। उन्होंने कहा, नवाचार सूचकांक में झारखंड का प्रदर्शन बेहतर हुआ है और हम कई पायदान आगे बढ़े हैं। स्वच्छता मानकों में भी हम कई राज्यों से आगे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पुरानी पेंशन व्यवस्था शीघ्र ही पूरी तरह लागू कर दी जाएगी। सभी रिक्त पदों को भरने के स्पष्ट निर्देश सभी विभागों को दिए हैं। विश्वविद्यालयों में 2716 शिक्षकों की नियुक्ति की अधिसूचना जेपीएससी को भेजी गई है। राज्य में 15 नवंबर से सीएम सारथी योजना शुरू होगी जिसके तहत विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए निःशुल्क प्रशिक्षण उपलब्ध कराने के साथ-साथ युवाओं को प्रोत्साहन भत्ता उपलब्ध कराया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा, देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में अध्ययन में बच्चों के समक्ष आर्थिक परेशानी न हो इसके लिए शीघ्र गुरुजी स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना लेकर आ रहे हैं। विद्यालयों में शिक्षक, एवं प्रयोगशाला सहायक आदि के 37 हजार पद रिक्त हैं। इन रिक्त पदों को भरने के लिए अगले छह माह में विशेष अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे अपनी रचनात्मक और सकारात्मक ऊर्जा का उपयोग झारखंड के नव निर्माण में करें।

मुख्यमंत्री ने कहा, झारखंड में वर्तमान खरीफ मौसम में सामान्य से कम वर्षा होने की रिपोर्ट मिल रही है। राज्य सरकार लगातार इसपर निगरानी रख रही है। वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए हमने केंद्र सरकार से विशेष पैकेज की मांग की है। साथ ही फसल राहत योजना में तत्काल 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था की जा रही है।

राज्यपाल रमेश बैस ने दुमका में किया झंडारोहन, अभिभाषण में कहा...

झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस ने दुमका के पुलिस मैदान में झंडारोहन किया। राज्यपाल ने परेड का निरीक्षण करने के बाद झंडारोहन किया। इसके बाद राज्यपाल का अभिभाषण शुरू हुआ। राज्यपाल ने कहा सरकार कृषि, ग्रामीण विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ राज्य में औद्योगिक एवं पर्यटन विकास तथा नवाचार को बढ़ावा दे रही है।

राज्यपाल ने कहा कि संताल परगना में विकास की गति तेज हुई है। विगत माह प्रधानमंत्री देवघर में एयरपोर्ट का उद्घाटन किए हैं। प्रसाद योजना के तहत देवघर में में शिवगंगा एवं सौंदर्यीकरण का काम हो रहा है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए नई पर्यटन नीति बनाई गई है। केंद्र सरकार की रीजनल कनेक्टविटी स्कीम उड़ान -उड़े देश का आम नागरिक के तहत दुमका से कोलकाता, पटना तथा रांची के लिए सीधी उड़ान सेवा के लिए रूट स्वीकृत किया गया है। इसके लिए दुमका हवाई अड्डा के उन्नयन का काम पूरा किया जा चुका है तथा आवश्यक लाइसेंस प्राप्त होने के उपरांत दुमका, रांची, कोलकाता तथा पटना वायु मार्ग द्वारा जोड़ा गया। इससे संताल परगना में विकास की गति तेज होगी।

राज्यपाल ने कहा कि स्थानीय युवाओं को रोजगार देने के लिए झारखंड राज्य के निजी क्षेत्र में स्थानीय उम्मीदवारों का नियोजन अधिनियम 2021 गठित किया गया है। नियुक्ति प्रक्रिया के लिए विभिन्न नियुक्ति एवं परीक्षा संचालन नियमावलियों के गठन व संशोधन की कार्रवाई हुई है। सभी विभागों में रिक्तियों को भरने की कार्रवाई हो रही है।

मोरहाबादी मैदान में जवानों ने किया परेड...

सीआरपीएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ, एसएसबी, झारखंड जगुआर, जैप 1 एवं एक प्लाटून बैंड पार्टी, जैप 2, जैप 10 एवं एक प्लाटून बैंड पार्टी, एनसीसी एसआर (गर्ल्स), एनसीसी एसआर (ब्वॉयज), रांची पुलिस (महिला), रांची पुलिस (पुरुष), होमगार्ड एवं प्लाटून बैंड पार्टी परेड किया।

परेड देखने के लिए लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। कार्यक्रम के स्थल को लेकर बेरिकेडिंग किया गया। वीआइपी और आम लोगों के लिए ड्राप गेट की व्यवस्था की गई है। आयाेजन स्थल तक सिर्फ पासयुक्त वाहनाें काे ही जाने की अनुमति दी गई है। शनिवार को प्रभारी ट्रैफिक एसपी अंशुमान कुमार ने इसको लेकर निर्देश जारी किया है। आयोजन स्थल पर भीड़ भाड़ की स्थिति उत्पन्न न हो जाए, इसको लेकर मोरहाबादी मैदान में चारों ओर 15 जगहाें पर ड्राॅप गेट बनाया गया है।

बड़े वाहनों का रांची में प्रवेश होगा वर्जित

स्वतंत्रता को लेकर सोमवार की सुबह छह बजे से रात 10 बजे तक रांची शहर में बड़े वाहनाें के प्रवेश वर्जित रहेगा। रांची के अन्य इलाकों की यातायात व्यवस्था में भी बदलाव किया गया है। कई स्थानों पर ड्राप गेट बनाए गए हैं, तो कई मार्ग का रूट डायवर्ट किया गया है।

ऐसी होगी यातायात व्यवस्था

  • कांके से बाेड़या के रास्ते शहर तक आने वाले वाहन- बोड़ेया तक
  • चाईबासा-खूंटी से शहर की ओर आने वाले वाहन - बिरसा चौक तक
  • गुमला और सिमडेगा से अरगाेड़ा के रास्ते शहर की ओर आने वाले वाहन - कटहल मोड़ तक
  • पलामू-लोहरदगा से शहर की ओर आने वाले वाहन - पंडरा तक
  • गुमला-सिमडेगा से शहर की ओर आने वाले वाहन - आईटीआई बस स्टैंड तक
  • जमशेदपुर से शहर की ओर आने वाले वाहन - नामकुम दुर्गा सोरेन चौक तक
  • जमशेदपुर सदाबहार चाैक के रास्ते शहर तक आने वाले वाहन - कुसई घाघरा तक
  • पतरातू से कांके राेड हाेते हुए शहर तक आने वाले वाहन - चांदनी चाैक तक
  • बुटी मोड़ से बरियातू हाेते हुए शहर तक आने वाले वाहन - बुटी माेड़ तक
  • मोरहाबादी में यहां-यहां बनाये गए हैं।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

राजधानी रांची के अलावा पूरे जिले की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। राजधानी में ही दो हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती गई है। जबकि मोरहाबादी में आयोजन स्थल की सुरक्षा में पांच सौ जवानों को लगाया गया है। इसके अलावा सात डीएसपी, 25 इंस्पेक्टर और 50 दारोगा को कमान दिया गया है। एसएसपी के निर्देश पर राजधानी में विशेष एंटी क्राइम चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। शहर में प्रवेश करने वाले वाहनों की जांच की जा रही है। सुरक्षा में किसी प्रकार की चूक न हो इसको लेकर एसएसपी खुद पूरी व्यवस्था की मानीटरिंग कर रहे हैं। थानेदारों को अपने-अपने इलाके में गश्त लगाने और संवेदनशील स्थल, प्रमुख धार्मिक स्थलों पर विशेष निगाह रखने का निर्देश दिया गया है। होटलों में ठहरने वाले आगंतुकों के विषय में पूरी जानकारी इकट्ठा की जा रही है। थानेदारों को विशेष तौर पर क्षेत्र में भ्रमणशील रहने और आपराधिक चरित्र वाले व्यक्ति की गतिविधि प नजर रखने को कहा है।

Edited By: Sanjay Kumar