जागरण संवाददाता, कोलकाता। बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में भारत- बांग्लादेश सीमा की सुरक्षा में तैनात बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर अंतर्गत 153वीं बटालियन ने देश की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इस बार बहुत धूमधाम के साथ स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाया। बटालियन की सीमा चौकी (बीओपी) कैजुरी में आयोजित भव्य समारोह में बीएसएफ के कोलकाता सेक्टर के डीआइजी राजेश कुमार ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। इस मौके पर 153वीं वाहिनी के कमांडेंट जवाहर सिंह नेगी समेत सभी रैंक के अधिकारियों और जवान मौजूद रहे।

समारोह में कैजुरी समेत आसपास के सीमावर्ती गांव के गणमान्य लोग, ग्रामीण व बड़ी संख्या में स्कूली बच्चे मौजूद थे। झंडोत्तोलन से पहले गांव में तिरंगा यात्रा (प्रभात फेरी) निकाली गई। डीआइजी व कमांडेंट की अगुवाई में निकाली गई इस तिरंगा रैली में बड़ी संख्या में स्कूली बच्चों, ग्रामीणों व सभी धर्मों के लोगों ने हिस्सा लिया। इस दौरान भारत माता की जय व अन्य देशभक्ति नारों से पूरा माहौल देशभक्ति पूर्ण हो गया।

तिरंगा यात्रा के बाद झंडोत्तोलन हुआ। इस दौरान जवानों व उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए बीएसएफ डीआइजी राजेश कुमार ने सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि बहुत लंबे संघर्ष के बाद देश को आजादी मिली थी। हमें उन लोगों के बलिदान को कभी नहीं भूलना चाहिए जिन्होंने इस दिन के लिए लंबे समय तक संघर्ष किया और कठिन लड़ाई लड़ी। उन्होंने सभी सीमा प्रहरियों से अपनी ड्यूटी का निर्वहन इसी प्रकार पूरी कर्तव्य निष्ठा व ईमानदारी के साथ आगे भी करते रहने का आह्वान किया।

भारत की आन-बान-शान पर नहीं आने देंगे आंच : कमांडेंट

इस मौके पर कमांडेंट जवाहर सिंह नेगी ने अपने संबोधन में जवानों को याद दिलाया कि सरहद की हिफाजत के लिए हमने जब यह वर्दी पहनी थी तभी प्रण किया था कि हम भारत की संप्रभुता, उसकी सुरक्षा और आन-बान-शान पर कभी कोई आंच नहीं आने देंगे। इसके लिए हम सभी दृढ़ संकल्पित हैं।

स्कूली बच्चों, ग्रामीणों व जवानों में बांटी मिठाई

संबोधन के बाद डीआइजी व कमांडेंट ने समारोह में मौजूद जवानों, गांव के गणमान्य लोगों और स्कूली बच्चों के बीच खुद अपनी हाथों से मिठाइयों का वितरण किया और उन्हें आजादी के पर्व की शुभकामनाएं दी।

भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम व बड़ा खाना का भी हुआ आयोजन

इस मौके पर भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन हुआ। इसमें जवानों व अधिकारियों के साथ स्कूली बच्चों ने देशभक्ति पूर्ण गीत प्रस्तुत कर सबका मन मोह लिया। सभी ने उत्साहपूर्वक आजादी का जश्न मनाया। इसके बाद बीएसएफ की परंपरा के अनुसार खास मौके पर होने वाले बड़ा खाना का भी आयोजन हुआ। समारोह में मौजूद सभी रैंकों के लगभग 200 जवानों व अधिकारियों ने बड़ा खाना का आनंद उठाया।

बीएसएफ कार्मिकों व 25 से ज्यादा स्कूली बच्चों को कमांडेंट प्रशस्ति पत्र भी दिया गया

इस खास मौके पर सेवा के दौरान बेहतर कार्य के लिए 50 से ज्यादा बीएसएफ कार्मिकों के अलावा सीमावर्ती गांव के लगभग 25 छात्र-छात्राओं को कमांडेंट प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया गया, जिन्होंने स्कूली परीक्षाओं में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। डीआइजी व कमांडेंट ने इन बच्चों को प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिन्ह देकर उनकी हौसला अफजाई की। 

Edited By: Priti Jha