सत्येन ओझा.राजकुमार राजू.मोगा

जिले में तीन आम आदमी क्लीनिक का सोमवार को उद्घाटन किया जाएगा। क्लीनिक के लिए रविवार को सिविल सर्जन ने नए स्टाफ को नियुक्ति पत्र सौंप दिए, लेकिन 100 क्लीनिकल टेस्ट के नाम पर छलावा ही किया गया है। टेस्ट की जिम्मेदारी पीपीपी मोड पर बनी कृष्णा पैथोलोजी लैब के रूप में निजी लैब को सौंपी गई है, जिसके पास मोगा में न तो रेडियोलाजिस्ट है, न ही पैथोलाजिस्ट। इनकी रिपोर्टिंग लुधियाना होगी, यानि मामूली इलाज के लिए आम आदमी क्लीनिक पर जाने वाले मरीजों को अपने क्लीनिकल टेस्ट की रिपोर्ट के लिए एक दिन का इंतजार करना पड़ेगा। सरकार ने 100 प्रकार के क्लीनिकल टेस्ट निश्शुल्क आम आदमी क्लीनिक पर उपलब्ध कराने का दावा किया है।

इससे पहले पिछले साल 15 सितंबर को कांग्रेस सरकार के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने मोगा में तीन मंजिला मदर एंड चाइल्ड केयर ब्लाक की बिल्डिंग को अत्याधुनिक सुविधाओं वाला अस्पताल बताकर उद्घाटन कर दिया था। लोगों की आंखों में धूल झोंकने के लिए जंग खाए पुराने बेड उद्घाटन वाले दिन लगवा दिए गए थे। इस ब्लाक में जो सुविधाएं देने का वादा किया गया था, आज तक पूरी नहीं हो सका। तीनों ब्लाक में 18 प्राइवेट वातानुकूलित कमरे बनाने का दावा किया गया था, लेकिन एक भी कमरा नहीं बन पाया। मरीजों के लिए सबसे ऊपर की फ्लोर पर किचन बननी थी, यहीं पर डायटीशियन की देखरेख में मरीजों के लिए खाना बनना था,लेकिन खाना तो क्या 50 बेड के इस अस्पताल में उद्घाटन के एक साल बाद एक डाक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ भी सरकार नहीं दे सकी।

तैनात होने वाले स्टाफ को नियुक्ति पत्र सौंपे

इस बीच राज्य में नई बनी आम आदमी पार्टी की सरकार चुनावी वादे को पूरा करने के लिए जिले के चार की बजाय पहले चरण में सिर्फ तीन क्लीनिक ही शुरू करने जा रही है। इन क्लीनिकों के लिए रविवार को स्टाफ को नियुक्ति पत्र सिविल सर्जन ने सौंप दिए, लेकिन 100 प्रकार के क्लीनिकल टेस्ट के मामले में मरीजों को सिवाय परेशान होने के कुछ हाथ नहीं लगेगा।

सिविल सर्जन डा.एसपी सिंह का कहना है कि आम आदमी क्लीनिक पूरी तरह तैयार हो चुके हैं, स्टाफ को भी नियुक्ति पत्र सौंप दिए गए हैं।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट