कानपुर, जागरण संवाददाता। नामांतरण और गृहकर में गबन के मामले में नगर निगम के जोन दो के साथ ही अब जोन पांच में भी रसीदों की जांच शुरू हो गई है। जोन दो में गबन के मामले में एक राजस्व निरीक्षक को शासन ने निलंबित किया है और एक अन्य राजस्व निरीक्षक का भी इसमें सामने आया है।

इसी कड़ी में जोन पांच में एक कर्मचारी की भी जांच शुरू हो गई है। कई राजस्व निरीक्षक घेरे में आ रहे हैं। इसको लेकर जोन पांच में खलबली है। नगर आयुक्त ने जोन पांच में गायब पुस्तिका रसीद की जानकारी तलब की है।

जोन दो में एक शिकायत के बाद नामांतरण और गृहकर के गबन का मामला सामने आने के बाद अब एक-एक कर कई मामले सामने आए हैं। जोन पांच में एक कर्मचारी द्वारा पुस्तिका रसीद ही गायब कर दी गई है। पुस्तिका में 50 रसीदें होती हैं। इसमें कई फर्जी रसीद काट दी गईं।

राजस्व निरीक्षक और कर्मचारियों ने नगर निगम के खजाने में धन जमा करने के बजाय अपनी जेबों में रख लिया। नगर आयुक्त शिव शरणप्पा जीएन ने सभी जोनल प्रभारियों को आदेश दिए हैं कि एक-एक रसीद पुस्तिका की जांच कराई जाए।

अपार्टमेंट खड़े, कर भवन का ले रहे : शहर में तेजी से अपार्टमेंट खड़े हो रहे हैं, लेकिन कर अभी भी भवन का लिया जा रहा है। पिछले पांच साल में 10 हजार से ज्यादा अपार्टमेंट बन गए। इसमें से 20 प्रतिशत ही नई व्यवस्था के हिसाब से कर दे रहे हैं।

इस खेल में राजस्व निरीक्षक और कर्मचारी शामिल हैं। इन सभी से वर्तमान व्यवस्था के हिसाब से कर लिया जाए तो करोड़ों रुपये की आय होगी।

सभी जोनल प्रभारियों को आदेश दिए हैं कि गृहकर और नामांतरण में गड़बड़ी करने वाले अफसरों व कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाए। जोन दो में एक राजस्व निरीक्षक को निलंबित भी किया गया है।- शिव शरणप्पा जीएन, नगर आयुक्त

 

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट