जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : bill scam in Gadarpur sub division गदरपुर सब डिवीजन में बिजली बिल घोटाले की जांच कर रही तीन सदस्यीय जांच कमेटी को अब तक कोई बेहतर इनपुट नहीं मिल पाया।

जून में 13 लाख 40 हजार रुपये की गड़बड़ी की बात सामने आ सकी है। इसे लेकर ऊर्जा निगम की तरफ से हायर जांच कमेटी गठित किए जाने का प्रस्ताव दिया गया है।

सहायक अभियंता हैं निलंबित

बिजली बिल जमा करने के मामले में जहां कैशियर, अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता राजस्व को पहले ही निलंबित किया जा चुका है।

जांच कर रही टीम में लेखाधिकारी बीएस लोहनी, सहायक अभियंता राजस्व सतीश जोशी, लेखाकार राजस्व सचिन कश्यप ने तीन से चार माह के बिलों की जांच कर बैंक आफ बड़ौदा शाखा से मिलान किया है।

अब तक पूरी जांच में कोई ठोस बिंदु जांच कमेटी के सामने निकलकर सामने नहीं आ सके हैं। जांच पर नजर रख रहे अधीक्षण अभियंता रुद्रपुर सर्किल राजकुमार की तरफ से भी वरिष्ठ अधिकारियों को एक माह का लगभग समय दिए जाने की बात बताई गई है।

घोटाले की आंच देहरादून तक

पूरे मामले में मुख्य अभियंता ऊर्जा निगम नीरज कुमार ने कहा कि स्थानीय स्तर पर जांच कमेटी के साथ ही हायर जांच कमेटी भी गठित किए जाने का प्रस्ताव दिया गया है ताकि जांच का काम जल्द से जल्द व निष्पक्ष पूरा किया जा सके।

इस घोटाले की आंच देहरादून तक पहुंच चुकी है। बिलों के मिलान में मानीटरिंग सहित जांच का काम विभागीय अधिकारियों की तरफ से समय पर न किए जाने के बाद यह मामला विभाग के सामने आ चुका है। इससे विभाग की किरकिरी हो रही है।

Edited By: Prashant Mishra