जयपुर, जागरण संवाददाता। Rajasthan News: राजस्थान में जालोर के सुराणा गांव में शिक्षक की पिटाई से गंभीर रूप से घायल और फिर उपचार के दौरान नौ वर्षीय दलित बच्चे इंद्र की मौत के मामले में राजनीति तेज हो गई है। पीड़ित परिवार से मिलने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के पहुंचने का सिलसिला जारी है। गुरुवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने ट्वीट में लिखा कि दलित बच्चे की मौत के मामले को केस आफिसर स्कीम में लिया गया है, जिससे फास्ट ट्रैक ट्रायल करवाया जा सके। परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने के संबंध में पूर्व के मामलों का परीक्षण करवाया जा रहा है।

स्वजनों को दी गई सहायता 20 लाख की आर्थिक मदद 

पीड़ित स्वजनों को अनुसूचित जाति-जनजाति कानून के तहत और मुख्यमंत्री सहायता कोष से सहायता राशि दी गई है। इसके साथ ही अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर पीड़ित परिवार को 20 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जा रही है। गहलोत ने कहा कि अहमदाबाद में विधायक जिग्नेश मवानी ने मिलकर घटना पर चर्चा की है। इस दुख में सभी समाज परिवार के साथ है। गहलोत दो दिन से गुजरात के दौरे पर हैं।

मंत्री पर कार्यकर्ता को गाली देने का आरोप

इस बीच, बच्चे की मौत को लेकर मेघवाल समाज के कार्यकर्ता भंवरलाल ने राज्य के आपदा राहत मंत्री गोविंद राम मेघवाल को मोबाइल पर फोन कर सवाल किया कि दलित बच्चे को मार दिया गया,आप इस पर कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। इस पर नाराज हुए मंत्री ने भंवरलाल से पूछा कि तुम कितने पढ़े लिखे हो, मुझे ज्ञान मत दो । भंवरलाल ने फिर सवाल किया तो मंत्री ने उसे भद्दी-भद्दी गालियां दीं। मंत्री बोले, मैं इस समाज में पैदा हो गया, जिससे तुम्हारे जैसे लोगों से बात करनी पड़ रही है। तुम मर जाओ डूब कर। इसके बाद मंत्री ने भंवरलाल को धमकाते हुए मोबाइल बंद कर दिया। मंत्री से बहस के बाद भंवरलाल को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हालांकि बाद में उसे छोड़ दिया गया। यह आडियो दो दिन पुराना बताया जा रहा है। इस बारे में मेघवाल ने कहा कि भंवरलाल केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल का कार्यकर्ता है। मेरे खिलाफ साजिश है। आडियो में कांट-छांट की गई है।

चिराग पासवान सुराणा गांव पहुंचे

गुरुवार को लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान सुराणा गांव पहुंचे। उन्होंने मृतक बच्चे के स्वजनों से मुलाकात कर सांत्वना दी। चिराग उस स्कूल में भी गए, जहां बच्चे की पिटाई हुई थी। उन्होंने ग्रामीणों से बात की और सरकार से पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग की। चिराग ने प्रशासन पर मामले में लीला पोती का आरोप लगाया। 

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर को जोधपुर हवाईअड्डे पर हिरासत में लिया

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर गुरुवार को फिर विमान से जोधपुर पहुंचे। वे जालोर जाना चाहते थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें जोधपुर हवाईअड्डे पर ही हिरासत में ले लिया। चंद्रशेखर बुधवार को भी यहां आए थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया था। चंद्रशेखर ने कहा कि मैं अपने लोगों से मिलने जालोर जाना चाहता हूं।

गांव में बढ़ी सुरक्षा, भीम आर्मी और भीम सेना ने किया प्रदर्शन

गांव में नेताओं और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों की लगातार होती आवाजाही को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा बढ़ा दी है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) रवि प्रकाश मेहरड़ा गांव में पहुंचे । उन्होंने सरस्वती स्कूल में जाकर मुआयजा करने के साथ ही बच्चे के स्वजनों से बातचीत की। ग्रामीणों से भी घटना के बारे में जानकारी हासिल की। जिला पुलिस अधीक्षक और कलक्टर पिछले पांच दिन से गांव में ही कैंप कर के बैठे हैं। गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। भीम आर्मी और भीम सेना ने गुरुवार को जालोर कलक्टर कार्यालय पर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट के सामने रास्तों को जाम कर दिया है और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पुलिस ने समझा कर उन्हे वहां से हटाया।

लोगों ने दिया धरना

वहीं, सर्व समाज की ओर से जिला कलक्टर कार्यालय और सुराणा गांव में धरना देकर कहा गया कि इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। किसी के दबाव में पुलिस और प्रशासन को नहीं आना चाहिए। धरने पर बैठे लोगों ने कहा कि स्कूल में आरोपित शिक्षक छैल सिंह के साथ ही एक दलित हिस्सेदार है। स्कूल में छह शिक्षक सर्वण जाति के और पांच दलित हैं। यहां पानी पीने के लिए कोई अलग मटकी नहीं रखी गई है। शिक्षक और बच्चे टंकी से पानी पीते हैं

Edited By: Sachin Kumar Mishra