जेनरेटर हुए खराब, बिजली न आने से काम होता ठप

संवाद सहयोगी, माधौगढ़: तहसील परिसर में लगे दो जेनरेटर कई सालों से खराब होने से कर्मचारी उमस भरी गर्मी में परेशान नजर आते हैं। जब बिजली चली जाती है तो कर्मचारी अंधेरे में बैठने के लिए मजबूर होते हैं। तहसील में लगे वाटर कूलर व कंप्यूटर भी काम करना बंद कर देते हैं। दोनों जेनरेटर सफेद हाथी साबित हो रहे हैं।

तहसील परिसर में राजस्व परिषद द्वारा दो जेनरेटर लगाए गए थे जिससे कि बिजली जाने पर कर्मचारियों को परेशानी का सामना न करना पड़े। पहला जेनरेटर 2015 में इसके बाद दूसरा 2019 में लगाया गया था ताकि तहसील में कर्मचारियों को अपने-अपने आफिसों में बैठकर काम करने में परेशानी न आए। अब यह दोनों जेनरेटर कई सालों से खराब पड़े हैं लेकिन आज तक किसी अधिकारी ने जेनरेटर ठीक कराने की जरूरत नहीं समझी है। कर्मचारियों का कहना है कि जब बिजली चली जाती है तो आफिसों के कमरों में अंधेरा हो जाता है और कभी कभी कंप्यूटर भी काम करना बंद कर देते हैं। इससे ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले लोगों को खसरा खतौनी के साथ ही अन्य काम कराने में भटकना पड़ता है। जब बिजली आ जाती है तभी काम सुचारू रूप से हो पाते हैं। इस संबंध में एसडीएम अंगद सिंह का कहना है कि जेनरेटरों को ठीक कराने के लिए उच्च अधिकारियों को पत्र लिखकर भेजा जाएगा जिससे कि उन्हें ठीक कराया जा सके और काम सुचारू रूप से हो सके।

Edited By: Jagran