फोटो- 14 बीएएन 11

- 17 अगस्त को अमरपुर और 19 को शंभुगंज में होगा किसानों का धरना

- डीएम से सरकार को स्थिति का त्राहिमाम संदेश भेजने की मांग की

संवाद सूत्र, अमरपुर, बांका : शहर के सार्वजनिक पुस्तकालय परिसर में विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी डा. मृणाल शेखर की अगुवाई में किसानों की बैठक हुई। इसमें अमरपुर विधानसभा समेत पूरे बांका जिला को सुखाग्रस्त घोषित करने की मांग को लेकर आंदोलन के शंखनाद की घोषणा हुई।

डा. मृणाल ने कहा कि पूरा जिला सूखे की चपेट में है। किसान परेशान हैं, आषाढ़ के बाद पूरा सावन निकल गया। वर्षा की आस में किसानों के चेहरे सूख गए। खेतों में बिचड़ा मर गया, किसान आसमान की ओर टकटकी लगाए बैठे हैं। किसानों की लागत और मेहनत बर्बाद हो गयी, लेकिन सरकार और सत्ता में बैठे लोगों को इसकी जरा भी चिता नहीं है। सरकार सत्ता की मलाई और गठजोड़ में लगी है। समय रहते सरकार नहीं जगी तो पूरे जिले में भीषण संकट उत्पन्न होगा और इसका गंभीर खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने जिलाधिकारी से अविलंब सरकार को स्थिति का त्राहिमाम संदेश भेजने की मांग की है। उन्होंने आंदोलन की घोषणा करते हुए कहा कि निर्णायक लड़ाई लड़ेंगे और हर हाल में जिले को सुखाड़ क्षेत्र घोषित करा कर ही दम लेंगे। 17 अगस्त को अमरपुर बसस्टैंड चौक पर, 19 अगस्त को शंभुगंज प्रखंड मुख्यालय पर एवं 22 अगस्त को पूरे जिले के किसानों के साथ बांका समाहरणालय में महाधरना देंगे। धरना में पूर्व नगर अध्यक्ष प्रदीप गांय, रामदेव भगत, रूबेश कुंवर, संजीव सिंह, जयप्रकाश सिंह, अनमोल सिंह राजपुत, कृष्णनंदन, जय जयराम, रामाशीष भगत, मनीष सिंह, रीतेश सिंह, दुर्गेश शर्मा, आनंद पांडेय, विनित साह, मधु आचार्या, भोलू पोद्दार, विपिन राणा, लखन साह, मंगल सिंह, संजीत घोष, उदय शर्मा प्रमुख रुप से शामिल हुए।

Edited By: Jagran