जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: दिल्ली-रेवाड़ी रेल मार्ग पर गढ़ी हरसरू स्टेशन से पहले फाटक नंबर-29 के पास डीएमयू ट्रेन की चपेट में आने से तीन युवकों की मृत्यु हो गई। अन्य हादसे में एक महिला की रेलवे ट्रैक पर संदिग्ध हालत में मृत्यु हो गई। पटौदी और इंछापुरी स्टेशन के बीच एक व्यक्ति चलती ट्रेन से गिरकर घायल हो गया। जीआरपी सभी मामलों की जांच कर रही है।

सोमवार देर शाम बसई और गढ़ी हरसरू रेलवे स्टेशन के बीच तीन युवक ट्रैक पर घूम रहे थे। डबल डेकर ट्रेन गुरुग्राम से रेवाड़ी की तरफ जा रही थी। ट्रेन को देख तीनों युवक दूसरी लाइन पर आ गए। इसी दौरान दूसरी लाइन पर रेवाड़ी से दिल्ली जाने वाली डीएमयू (डीजल मल्टीपल यूनिट) ट्रेन आ गई। डीएमयू की चपेट में आने से तीनों की मृत्यु हो गई। इनकी पहचान आदिल, फैजान और साहुल के रूप में हुई है। तीनों की उम्र 18 से 22 के बीच बताई जा रही है। आदिल तथा फैजान उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले के गांव मिर्जापुर के रहने थे। साहुल बिजनौर के ही गांव मूसेपर का रहने वाला था।

तीनों कारपेटर थे और गढ़ी गांव में एक मकान में दरवाजे और खिड़की लगाने का काम कर रहे थे। सभी सेक्टर-37 में किराए पर रहते थे। स्वतंत्रता दिवस की छुट्टी होने के कारण तीनों रेलवे ट्रैक पर टहलने चले गए। जीआरपी थाना प्रभारी रामफल ने बताया कि उनके मोबाइल आदि की जांच की गई है। किसी भी प्रकार का वीडियो बनाने या फोटो आदि खींचने का मामला सामने नहीं आया है। संभव है कि एक ट्रेन को आता देख वह दूसरे ट्रैक पर चले गए और उस ट्रैक पर आ रही डीएमयू को नहीं देख पाने से हादसे में मौत हो गई।

ट्रेन से कटकर महिला की हुई मृत्यु

दिल्ली-रेवाड़ी रेल मार्ग पर एक अन्य हादसे में धानावास के पास एक 62 वर्षीय कमला देवी की ट्रेन से कटकर संदिग्ध हालात में मृत्यु हो गई। स्वजन का कहना है कि उन्होंने महिला को ताज नगर स्टेशन से ट्रेन में बिठाया था। धानावास के पास ट्रेन गिरने से उसकी मृत्यु हुई है। रेलवे पुलिस गहनता से जांच कर रही है कि महिला ने आत्महत्या की है या उसकी ट्रेन से गिरकर मृत्यु हुई है। यह भी पता लगाया जा रहा है कहीं किसी ने उसको धक्का तो नहीं दिया। एक अन्य हादसे में पटौदी और इंछापुरी रेलवे स्टेशन के बीच में चलती ट्रेन से एक युवक गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। जीआरपी ने युवक को गंभीर अवस्था में अस्पताल में दाखिल कराया है। व्यक्ति की अभी पहचान नहीं हो पाई है।

रेलवे लाइन पर घूमने वालों पर सख्ती बढ़ाई

रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने तीन युवकों की मृत्यु के बाद ट्रैक पर घूमने वालों पर सख्ती शुरू कर दी है। आरपीएफ के थाना प्रभारी नितिन मेहरा ने बताया कि रेलवे ट्रैक पर बिना वजह घूमने वाले लोगों के खिलाफ पहले भी अभियान चलाए जाते रहे हैं। रेलवे ट्रैक के आसपास रहने वाले लोगों में जागरूकता लाने के लिए कार्यक्रम भी किए जाते हैं। इस साल लापरवाही कर रेलवे ट्रैक पर आने वाले करीब 70 लोगों के विरुद्ध मामले भी दर्ज किए गए हैं। सोमवार के हादसे के बाद ट्रैक पर निगरानी और भी बढ़ा दी गई है।

Edited By: Jagran