संवाद सहयोगी, किशनगंज : सीमा से सटे किशनगंज जिले से नेपाल में यूरिया की तस्करी की जा रही है। तस्कर इसे सीमावर्ती क्षेत्र में डंप करने के बाद धीरे-धीरे नेपाल में ऊंची कीमत पर खपाते हैं। ऐसे तस्करों के कारण बिहार एवं आसपास के क्षेत्र के किसान यूरिया के लिए हाहाकार मचाते हैं और किसानों को मांग के अनुरूप यूरिया नहीं मिल पाती है। इस समय धान की रोपनी के साथ तस्कर यूरिया की तस्करी में जुट गए हैं। तस्कर बिहार एवं बंगाल के विभिन्न क्षेत्र से यूरिया लेकर दिघलबैंक, टेढ़ागाआछ के सीमावर्ती क्षेत्र के गांव में डंप करते हैं, फिर इसे मांग के अनुरूप नेपाल तक पहुंचाते हैं। यूरिया तस्कर अभी से ही सक्रिय हो गए हैं और तस्करी करने में जुट गए हैं। हालांकि इस समय पुलिस भी सक्रिय है। कई तस्कर पुलिस के हत्थे भी चढ़ रहे हैं। पिछले चार दिनों 334 बोरी यूरिया विभिन्न थाने की पुलिस ने जब्त की है।

शुक्रवार को सदर थाने की पुलिस ने कदमरसुल के समीप ट्रैक्टर पर लोड 120 बोरी अवैध यूरिया के साथ चालक को गिरफ्तार किया। ट्रैक्टर को जब्त कर थाना ले आया गया। टै्रक्टर चालक से यूरिया से संबंधित कागजात मांगने पर वह कुछ नहीं दिखा पाया। चालक मल्लीक अक्तर लक्ष्मीपुर का रहने वाला है। इसके अलावा शहर से सटे बंगाल के रामपुर बिलातीबाड़ी से अनवर आलम नामक व्यक्ति के गोडाउन से 120 बोरी यूरिया लेकर बहादुरगंज की ओर जाने के दौरान यूरिया जब्त किया गया। थानाध्यक्ष ने बताया संबंधित विभाग की जांच के उपरांत अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। बताते चलें कि शहर से सटे बंगाल के रामपुर से अवैध रूप से यूरिया खाद की तस्करी इन दिनों किशनगंज के रास्ते नेपाल की जा रही है। प्रतिदिन सुबह से शाम तक दर्जनों ट्रैक्टर, पिकअप और अन्य कई वाहनों पर यूरिया लोडकर नेपाल से सटे गांव ले जाकर रखा जाता है और रात के अंधेरे में धीरे-धीरे सीमा पार कर नेपाल भेजा जाता है।

84 बोरी यूरिया दिघलबैंक पुलिस ने की जब्त::

दो दिन पूर्व बहादुरगंज थाने की पुलिस ने एलआरपी चौक पर एक ट्रैक्टर पर लोड 130 बोरी यूरिया ट्रैक्टर सहित जब्त कर चालक को गिरफ्तार किया था। उस दौरान भी चालक कोढ़ोबारी थाना क्षेत्र के बालूबारी स्थित लक्ष्मीपुर गांव का था, जो यूरिया लेकर अपने गांव जा रहा था। पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर कोई कागजात नहीं दिखा पाया था। वहीं दिघलबैंक थाने की पुलिस ने एक पिकअप गाड़ी पर 84 बोरी यूरिया दोगिरजा के पास जब्त की थी। अनुमंडल कृषि पदाधिकारी की जांच के बाद यूरिया अवैध पाए जाने पर चालक के विरूद्ध मामला दर्ज किया गया।

Edited By: Jagran