पश्‍च‍ि‍म चंपारण (इनरवा), जासं। मैंनाटांड़ प्रखंड के सहनौला पकड़ी गांव का एक युवक साइबर बदमाशों से सांठगांठ कर फ्राड की राशि ट्रांसफर करने के लिए दर्जन भर से अधिक लोगों को स्टेट बैंक में खाता खुलवाया और उसमें अलग- अलग जगहों से राशि मंगा रहा था। यह गोरखधंधा पिछले दो तीन माह से चल रहा था। अचानक सात अलग- अलग खातों में पांच से दस लाख के बीच में राशि आने के बाद बैंक ने संज्ञान लिया और खाता होल्ड कर जब खाताधारकों को नोटिस भेजा तो उनके होश उड़ गए।

खाताधारकों ने सहनौला के सामाजिक कार्यकर्ता मुन्ना शेख,मुखिया मो सनाउल्लाह और सरपंच संजय दिसवा को नोटिस दिखाई। मुखिया मो सनाउल्लाह ने बताया कि खाताधारकों की शिकायत पर सहनौला गांव नसीम शेख पूछताछ की गई है। उसने अपना गुनाह कबूल करते हुए बताया है कि गांव के ही रोहित मांझी भनु मांझी, कलमून नेशा, वीरेंद्र राम इरशाद शेख,सरफूल शेख समेत सात लोगों को पैसे का प्रलोभन देकर मैनाटांड़ स्टेट बैंक ले गए और सभी का खाता खुलवा कर आधार कार्ड, पैन कार्ड और एटीएम कार्ड अपने पास रख लिया। इस खाते से लाखों की निकासी हुई है।

इधर, नसीम शेख ने बैंक से मिले नोटिस से खाताधारकों के बचाव के लिए एक शपथ पत्र भी बनाया है, जिसमें मझौलिया थाना के जौकटिया गांव के एक युवक को सरगना बताया है। वहीं भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक सावन बोइपाई ने बताया कि अचानक अधिक राशि की जमा और निकासी पर खाता लॉक कर सभी को नोटिस भेज दिया गया है। इसकी सूचना विभागीय साइबर डिपार्टमेंट को दी गई है। उधर, मानपुर थानाध्यक्ष शहजाद गद्दी ने बताया कि अभी तक ऐसी शिकायत नहीं मिली है। आवेदन आने पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

खाता खुलवाने पर दस हजार देने का झांसा

जिन लोगों को बैंक ने नोटिस दिया है, उनका कहना है कि वे लालच में पड़कर बैंक में खाता खुलवाने गए थे। संबंधित युवक ने कहा था कि बगैर किसी परिश्रम के बैंक में खाता खुल जाने पर वह प्रतिमाह पांच हजार देगा। हालांकि खाता खुलने के बाद अभी तक किसी को कुछ दिया नहीं है। इस लालच में ये लोग खाता खुलवा लिए और पासबुक, एटीएम और आधारकार्ड की फोटो कापी भी दे दिए।

खाते में राशि मांगा रहे साइबर फ्राड

लाटरी फंसने, दोस्त बन बीमारी में सहयोग के लिए मदद मांगने, एटीएम बदलकर राशि ट्रांसफर करने समेत विभिन्न फ्राड के तहत साइबर बदमाश राशि इसी तरह के खातों में ट्रांसफर करते हैं और तुरंत उसे निकाल भी लेते हैं। यहीं वजह है कि साइबर बदमाश बेहिचक बैंक खातों में राशि मांगा रहे हैं। जिन लोगों का खाता है, उन्हें भी लालच देते हैं।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh