राज्य ब्यूरो, कोलकाता : विश्वभारती विश्वविद्यालय ने घोषणा की है कि वह शिक्षा वर्ष 2020-21 में 10वीं और 12वीं की परीक्षा आयोजित करेगा। विश्वविद्यालय ने अधिसूचना जारी कर बताया कि परीक्षा आयोजित करने का निर्णय विश्वविद्यालय के विभिन्न अधिकारियों के साथ बैठक में लिया गया है। बैठक की अध्यक्षता कुलपति प्रो. विद्युत चक्रवर्ती ने की। यह घोषणा ऐसे समय हुई है, जब पश्चिम बंगाल और केंद्र सरकार दोनों ने कोरोना महामारी की मौजूदा स्थिति के कारण 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद कर दिया है।

विश्वविद्यालय ने कहा कि प्री-डिग्री परीक्षा, 2021 (कक्षा 12वीं की परीक्षा) 5 जुलाई से ऑनलाइन (वाइवा-वॉयस मोड) से शुरू होगी और इसके बाद स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा (कक्षा 10) होगी। परीक्षा का कार्यक्रम, स्थल और अन्य तौर-तरीके जल्द ही अधिसूचित किए जाएंगे। गौरतलब है कि गत छह जून को छात्रों के एक वर्ग ने ईमेल के माध्यम से विश्वभारती के अधिकारियों से परीक्षा रद करने की अपील की थी क्योंकि वे कोरोना के कारण ठीक से अध्ययन नहीं कर सके थे। तीन दिन बाद विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने एक बैठक की और ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने की घोषणा की। गौरतलब है कि गत सात जून को बंगाल देश के उन राज्यों में शामिल हो गया था, जिन्होंने कोरोना के कारण अपनी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद कर दिया है। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गत मंगलवार को कहा था कि महामारी के बीच सरकार बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के पक्ष में नहीं है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप