मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मेरठ, जेएनएन। माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश यानी यूपी बोर्ड की 2020 बोर्ड परीक्षा में कुल 11,02,251 छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। इनमें हाईस्कूल में 5,82,580 और इंटरमीडिएट में कुल 5,19,671 रेगुलर व प्राइवेट परीक्षार्थी हैं। 10वीं में रेगुलर परीक्षार्थी 5,76,552 और प्राइवेट 6,028 परीक्षार्थी एवं 12वीं में 5,03,834 रेगुलर और 15,837 परीक्षार्थी प्राइवेट हैं। बोर्ड परीक्षा के लिए परिषद ने पांच सितंबर तक आवेदन व परीक्षा शुल्क अंतिम रूप से अपलोड करने की तिथि निर्धारित की थी। इसके बाद परिषद की ओर से जारी आंकड़ों में इस साल 11 लाख से कुछ अधिक छात्र-छात्रएं बोर्ड परीक्षा के लिए अंतिम रूप से पंजीकृत हुए हैं।

अग्रिम पंजीकरण की बढ़ी संख्या
साल 2021 की बोर्ड परीक्षा के लिए सत्र 2019-20 में कक्षा नौवीं व 11वीं में हुए अग्रिम पंजीकरण की संख्या 2020 के बोर्ड परीक्षार्थियों से अधिक है। नौवीं व 11वीं में कुल रजिस्ट्रेशन 11,25,589 छात्र-छात्राओं के हुए हैं। इनमें कुल रेगुलर अभ्यर्थी ही हैं। इनमें नौवीं में 6,24,131 छात्र-छात्रएं और 11वीं में 5,01,458 छात्र-छात्रओं के पंजीकरण हुए हैं। बोर्ड परीक्षा आवेदन के पूर्व इन आवेदनों की जांच के दौरान काफी संख्या में रजिस्ट्रेशन फार्म निरस्त भी हो जाते हैं। बोर्ड परीक्षा 2021 की अंतिम आवेदन प्रक्रिया तक यह संख्या बदल सकती है।

फर्जी आवेदनों पर नकेल

यूपी बोर्ड की ओर से अग्रिम पंजीकरण, बोर्ड परीक्षा के रेगुलर व प्राइवेट आवेदनों की गहनता से की गई जांच के कारण पिछले साल मेरठ परिक्षेत्र में 20 हजार से अधिक फर्जी आवेदन रद हुए थे। इस साल भी दोनों ही स्तर पर आवेदनों के कागजातों की जांच होने से प्राइवेट आवेदनों की संख्या लगभग आधी ही रह गई है। इस जांच का असर रेगुलर आवेदनों में देखने को मिल रहा है।

Posted By: Neel Rajput

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप