नई दिल्ली [अरविंद कुमार द्विवेदी]। नीति आयोग ने शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले राज्यों की एक लिस्ट जारी की है। यह लिस्ट केंद्र शासित राज्यों के लिए जारी की गई है। लिस्ट राज्यों द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए गए प्रदर्शन के आधार पर जारी की गई है। इस लिस्ट में तीन केंद्र शासित प्रदेश शामिल हैं।

नीति आयोग द्वारा जारी इस रिपोर्ट में बताया है कि केंद्र शासित प्रदेशों में दिल्ली शिक्षा के क्षेत्र में पहले पायदान पर है। वहीं  दिल्ली की बाद दूसरे स्थान पर चंडीगढ़ है और तीसरे स्थान पर पुडुचेरी है।

211 छात्रों मिला अवॉर्ड

उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को त्यागराज स्पोट्र्स कांप्लेक्स में आयोजित कार्यक्रम में दिल्ली सरकार के स्कूलों के 211 मेधावी छात्र-छात्राओं व 43 स्कूलों को एक्सीलेंस इन एजुकेशन अवार्ड-2019 प्रदान किया। तुगलकाबाद रेलवे कॉलोनी स्थित सर्वोदय कन्या विद्यालय को राज्य के सर्वश्रेष्ठ स्कूल के तौर पर पुरस्कृत करते हुए एक लाख रुपये दिए गए। 211 मेधावी बच्चों को मेडल और प्रत्येक को पांच हजार रुपये दिए गए।

इस दौरान मनीष सिसोदिया ने कहा कि पहले लोग सरकारी स्कूलों को नीची नजरों से देखते थे। लेकिन आज लोग दिल्ली के सरकारी स्कूल में एडमिशन करवाने के लिए सिफारिश लगवाते हैं। मनीष सिसोदिया ने कहा कि पांच साल पहले तक सरकारी स्कूलों के बच्चों को बोर्ड में औसतन 80 फीसद अंक मिलते थे। लेकिन अब सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में सरकारी स्कूलों के बच्चे 96 प्रतिशत तक अंक पाते हैं। हमारा मिशन प्राइवेट स्कूलों से तुलना करना नहीं बल्कि सरकारी स्कूलों का स्तर उठाना है। हैप्पीनेस और एंटरप्रेन्योरशिप करिकुलम से बच्चों को खूब लाभ मिल रहा है। अब विदेश से लोग आकर हमारी शिक्षा प्रणाली देख रहे हैं। 12वीं की एक बच्ची की मांग पर हम अब तीन लाख से अधिक बच्चों की बोर्ड की एग्जाम फीस भर रहे हैं।

Posted By: Neel Rajput

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप