मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPPSC) ने स्टेट सर्विस प्रीलिम्स परीक्षा तिथि निर्धारित हो गई है। इसके अनुसार परीक्षा का आयोजन 25 जुलाई को किया जाएगा। आयोग ने राज्य में कोविड-19 संक्रमण की स्थिति को देखते हुए परीक्षा को दो बार स्थगित किया था। लेकिन अब राज्य में कोरोना केसेज की संख्या कम होने की वजह से परीक्षा को दोबारा शेड्यूल किया गया है। MPPSC ने एहतियात के तौर पर उम्मीदवारों से यह कहते हुए 'घोषणा' लेने का फैसला किया है कि वे वायरस से संक्रमित नहीं हैं।

एमपीपीएससी के स्पेशल ड्यूटी ऑफिसर (ओएसडी) रवींद्र पंचभाई ने मीडिया रिपोर्ट में बताया कि, “उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्रों पर एक घोषणा पर हस्ताक्षर करना होगा कि वे कोरोनावायरस से संक्रमित नहीं हैं। अधिकारी ने आगे बताया कि अभी तक किसी भी उम्मीदवार ने आयोग को संक्रमित होने की सूचना नहीं दी है। इसके अलावा एहतियात के तौर पर 52 जिलों में 64 विशेष केंद्र बनाए गए हैं, जहां संक्रमित उम्मीदवार अलग से परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

प्रीलिम्स के लिए कम से कम 1,011 केंद्र स्थापित किए गए हैं, उन्होंने कहा कि परीक्षा सभी केंद्रों पर COVID-19 प्रोटोकॉल के अनुपालन में आयोजित की जाएगी। इसके अलावा उम्मीदवारों को अपनी पानी की बोतलें और सैनिटाइज़र लाने की अनुमति होगी। बता दें कि 25 जुलाई को आयोजित होने वाली यह परीक्षा दो सत्रों में आयोजित की जाएगी। वहीं परीक्षा में कुल 3,44,491 उम्मीदवार शामिल होंगे। महामारी के कारण परीक्षा पूर्व में दो बार स्थगित की जा चुकी है। इसके अनुसार पहले यह परीक्षा 11 अप्रैल के लिए निर्धारित की गई थी, फिर 20 जून के लिए आयोजित की गई थी। लेकिन फिर भी आयोग ने राज्य में संक्रमण की स्थिति को देखते हुए परीक्षा को टाल दिया था। वहीं इस परीक्षा से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए अब अभ्यर्थियों को आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा।