MP Board Exam 2022: मध्यप्रदेश बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं पैर्टन के संबंध में बड़ा फैसला लिया है। बोर्ड ने नई शिक्षा नीति के अनुरुप,दसवीं और बारहवीं परीक्षा के पैर्टन में बड़ा बदलाव किया गया है। संशोधित परीक्षा पैटर्न के अनुसार, अब कक्षा 10 और 12 के लिए 40% प्रश्न बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न होंगे। हालांकि इसके पहले कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए 25% प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होते थे। छात्र-छात्राएं ध्यान दें कि परिवर्तित परीक्षा पैटर्न शैक्षणिक वर्ष 2021-2022 के लिए लागू किया जा चुका है। स्टूडेंट्स ऑफिशियल पोर्टल mpbse.nic.in पर जाकर परीक्षा पैर्टन की जांच कर सकते हैं और उसके अनुसार तैयारी कर सकते हैं।

स्टूडेंट्स ध्यान देना चाहिए कि हाईस्कूल के साथ-साथ इंटरमीडिएट परीक्षाओं के लिए थ्योरी विषयों के लिए 80 अंक आवंटित किए जाएंगे। इसके अलावा,प्रैक्टिकल या प्रोजेक्ट वर्क के लिए 20 अंक आवंटित किए जाएंगे। इसके अलावा, कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा के लिए, थ्योरी विषयों में 70 अंक दिए जाएंगे। वहीं प्रैक्टिकल परीक्षा में कुल 30 अंक दिए जाएंगे।

कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राएं ध्यान दें कि 40% बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न होंगे। इसके साथ ही शेष 40% सब्जेक्टिव प्रकार के होंगे। इसके अलावा, बाकी 20% विश्लेषणात्मक प्रकृति के होंगे। वहीं शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए स्टूडेंट्स ध्यान दें कि कक्षा 10 और 12 के लिए दो अलग-अलग पेपर होंगे- गायन, तबला शामिल होंगे। इसके अलावा, एमपी बोर्ड कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा के लिए हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू जैसे विषय शामिल हैं। वहीं मराठी के थ्योरी में 80 अंक और प्रैक्टिकल में 20 अंक होंगे। कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा के लिए, भूगोल, गृह विज्ञान जैसे विषयों में 70 अंक थ्योरी और 30 अंक प्रैक्टिकल अंक होंगे। बता दें कि 100 अंकों के पेपर में कुल 33 फीसदी अंक पासिंग मार्क्स होते हैं। वहीं बोर्ड के इस कदम से दसवीं और बारहवीं के रिजल्ट को बेहतर करने में मदद मिलेगी। 

Edited By: Nandini Dubey