नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। MP Board Exam 2020: मध्य प्रदेश राज्य में इस साल की बोर्ड परीक्षाओं के अंतर्गत लॉक डाउन के कारण स्थगित की गयी कक्षा 10 और कक्षा 12 की परीक्षाओं को लेकर राज्य सरकार ने आज महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं। राज्य के मुख्य मंत्री शिवराज सिंह ने आज घोषणा की कि मध्य प्रदेश बोर्ड द्वारा 10वीं बची परीक्षाओं का आयोजन अब नहीं किया जाएगा, जबकि सीनियर सकेंड्री यानि कक्षा 12 की बची परीक्षाओं को अगले माह 8 जून 2020 से आयोजित किया जाएगा।

मुख्य मंत्री शिवराज सिंह ने परीक्षाओं के सम्बन्ध में अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से भी जानकारी साझा करते हुए बताया कि 12वीं की बची परीक्षाओं का आयोजन 16 जून 2020 तक किया जाना है।

10वीं के लिए मार्किंग अपीयर हो चुके पेपरों के आधार पर

मुख्य मंत्री ने 10वीं की बोर्ड परीक्षा कैंसिल किये जाने के बारे में अधिक जानकारी देते हुए कहा कि कक्षा 10 के बचे हुए पेपरों के लिए छात्रों को उन विषयों के मार्क्स के आधार पर नंबर दिये जाएंगे जिनकी परीक्षाएं वे मार्च 2020 में दे चुके हैं।

बता दें कि पूरे देश में फैली कोविड-19 महामारी के कारण मध्य प्रदेश बोर्ड की 10वीं और 12वीं के बचे पेपरों के बारे में निर्णय लेने और रद्द किये जाने की मांग पैरेंट्स के साथ-साथ टीचर्स द्वारा भी की जा रही थी। हालांकि, राज्य सरकार ने सिर्फ 10वीं के बचे पेपरों को ही कैंसिल किया है और 12वीं की बची परीक्षाओं के लिए तिथियों की घोषणा कर दी गयी है।

लॉक डाउन की समाप्त की अवधि तक सिर्फ ट्यूशन फीस

न सिर्फ बोर्ड परीक्षाओं के बारे में मुख्य मंत्री ने घोषणाएं की, बल्कि कोविड-19 महामारी के दौरान बाधित हुई शैक्षणिक गतिविधियों के बीच राज्य के स्कूलों में नये शैक्षणिक सत्र के लिए फीस को लेकर भी निर्देश जारी किये। सीएम की ट्वीट के अनुसार राज्य में स्थित कोई भी निजी स्कूल 19 मार्च 2020 से लेकर लॉक डाउन की समाप्त की अवधि तक सिर्फ ट्यूशन फीस ले सकेंगे। इसके अतिरिक्त किसी तरह की फीस लेने की अनुमति नहीं है। मुख्य मंत्री ने कहा कि संकट की इस घड़ी में प्रदेश के निजी विद्यालयों से सहयोग अपेक्षित है।

Posted By: Rishi Sonwal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस