Brand Desk| सर्वश्रेष्ठ मैनेजमेंट की शिक्षा के लिए एक सही बी-स्कूल का चुनाव किसी भी विद्यार्थी के लिए एक कठिन काम होता है। हालांकि, उसकी नजर में कुछ ऐसे पैरामिटर्स होते हैं, जिनको ध्यान में रखकर वह बी-स्कूल में दाखिला लेता है। इसमें रैंकिंग, स्पेसलाइज्ड प्रोग्राम, फैकल्टी, प्लेसमेंट और मजबूत एल्युमिनाई नेटवर्क शामिल है। इन सभी पैरामिटर्स में Jaipuria Institute of Management - Lucknow ने खुद को साबित किया है। लगभग 25 साल पहले लखनऊ में इसने मैनेजमेंट शिक्षा में अपनी यात्रा की शुरुआत की थी। आज यह देश के उन कुछ चुनिंदा बी-स्कूलों में शामिल है, जो वर्ल्ड क्लास फैकल्टी, अच्छी शिक्षा और बेहतर कैंपस प्लेसमेंट देते हैं।

रैंकिंग और ग्रेडेड ऑटोनॉमी की मान्यता

जब किसी संस्थान की पूरे देश में एक अलग पहचान बनती है, तो उसमें पढ़ रहे छात्र खुद को गौरवान्वित महसूस करते हैं। Jaipuria Lucknow को AICTE से मिली ग्रेडेड ऑटोनॉमी (Graded Autonomy) की मान्यता, यहां पढ़ रहे विद्यार्थियों को यह भरोसा देती है कि उन्होंने अपने भविष्य को संवारने का जिम्मा सही हाथों में दिया है। किसी शैक्षणिक संस्थान को ग्रेडेड ऑटोनॉमी की मान्यता मिलने का मतलब है कि वह अब सभी फैसले लेने के लिए स्वतंत्र है, जिससे छात्रों का सही विकास संभव हो सके। ये मान्यता उन्हीं संस्थाओं को मिलता है, जिन्होंने विभिन्न सुविधाओं के साथ छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी है।

इनके PGDM प्रोग्राम्स को MBA के समकक्ष भारतीय विश्वविद्यालय संघ द्वारा मान्यता प्राप्त है। इस बी-स्कूल को NIRF 2020 रैंकिंग में 73वां स्थान मिला है, जो बहुत ही उल्लेखनीय बात है। इस रैंकिंग को भारत सरकार का शिक्षा मंत्रालय जारी करता है। नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रेडिटेशन (NBA) ने 6 साल के लिए Jaipuria Lucknow के PGDM प्रोग्राम्स को मान्यता दी है। देश के बहुत कम संस्थान हैं, जिन्हें यह गौरव प्राप्त है। यही नहीं, संस्थान को NAAC द्वारा 'ए' ग्रेड संस्थान के रूप में भी दर्जा दिया गया है।

उत्साहित PGDM 2018-20 बैच की छात्रा शिरवरी गुप्ता का कहना है, “Jaipuria Lucknow की रैंकिंग और इसकी मान्यता बहुत ज्यादा है और मुझे गर्व है कि मैं इससे जुड़ी। मेरी मेहनत और कॉलेज की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का ही परिणाम है कि आज मैं Amazon में जॉब कर रही हूं।”

स्टार्टअप केंद्र के रूप में बनाई जगह

नवाचार और उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार प्रदेश के प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थाओं के साथ मिलकर काम कर रही है। इसमें अब Jaipuria Lucknow भी शामिल है। हाल ही में स्टार्टअप संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए यहां की सरकार ने इसे स्टार्टअप केंद्र (इंक्यूबेटर) के रूप में मंजूरी दी है।

“स्टार्टअप बिजनेस में युवाओं को तैयार करने के लिए Jaipuria Lucknow में खुले इन्क्यूबेशन सेंटर मेरे जैसे छात्रों के लिए बहुत ही अच्छा प्लेटफॉर्म है।” सईद कामरान- PGDM 2019-21

वर्ल्ड क्लास फैकल्टी और एल्युमिनाई

जयपुरिया अपने वर्ल्ड क्लास फैकल्टी पर गर्व करता है। Jaipuria Institute of Management - Lucknow ने छात्रों को बेसिक से लेकर एडवांस और न्यू ऐज कोर्स की सुविधा देकर अलग-अलग इंडस्ट्री के लिए मैनेजमेंट के क्षेत्र में काबिल बनाया है। इनका मकसद है कि छात्र जब कॉलेज से पास होकर किसी कंपनी से जुड़ें तो वह अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान दे सकें। यहाँ 360 डिग्री लर्निंग यानी छात्रों के विकास के हर पहलुओं पर ध्यान दिया जाता है। यहां का इंडस्ट्री सेंट्रिक करिकुलम छात्रों को जॉब प्राप्त करने में बहुत ही मदद करता है।

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में ICICI बैंक के रीजनल हैड और PDGM 1997-99 बैच के एल्युमिनाई परितोष जोशी कहते हैं, “PGDM प्रोग्राम के अलावा यहां PGDM (फाइनेंशियल सर्विस) और PGDM (रिटेल मैनेजमेंट) में स्पेशलाइज्ड प्रोग्राम्स भी कराए जाते हैं। Jaipuria Institute of Management की समृद्ध विरासत जिसमें शामिल है 11000+ व्यापक एल्युमिनाई, 110+ फैकल्टी मैंबर्स और 375+ इंडस्ट्री रिक्रूटर्स इस संस्थान की मजबूती को दर्शाते हैं।“

कैंपस प्लेसमेंट जयपुरिया की ताकत

जयपुरिया लखनऊ के पास एक्सीलेंट कैंपस प्लेसमेंट के संचालन का एक बेदाग रिकॉर्ड है। देश-विदेश की कंपनियां कैंपस में विजिट करती रहती हैं। इन कंपनियों में राष्ट्रीय और बहुराष्ट्रीय कंपनियां शामिल हैं। इसमें रिसर्च एंड एडवाइजरी, मैन्युफैक्चरिंग, फास्ट-मूविंग कंज्यूमर गुड्स, रिटेल, आदि शामिल है। पिछले साल भले ही कोविड -19 के कारण नियुक्ति प्रक्रिया बाधित हुई, लेकिन जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट की प्लेसमेंट टीम ने खुद को तैयार किया है और अपने छात्रों को नौकरी के पर्याप्त अवसर प्रदान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। नियमित प्रशिक्षण के साथ इनकी प्लेसमेंट नीति छात्रों को पर्याप्त अवसर प्रदान करती है, जिसे उन्हें सही नौकरी पाने के लिए ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ता है।

हाल फिलहाल बैंकिंग क्षेत्र में भर्ती के लिए Jaipuria Lucknow के 2019-2021 बैच से भारत की प्रमुख निजी बैंक ICICI ने 14 छात्रों को सेलेक्ट किया है। ICICI बैंक द्वारा हाल ही में चयनित और PDGM 2019-2021 बैच के छात्र अंगद सिंह कहते हैं, “Jaipuria Lucknow छात्रों के लिए कैंपस प्लेसमेंट का संचालन बहुत ही अच्छे से करता है। एक छात्र के रूप में मुझे इनके समर इंटर्नशिप और लाइव प्रोजेक्ट से बहुत फायदा मिला है।”

बदलते समय के साथ खुद को बदला

Jaipuria Institute of Management ने बदलते समय के साथ अपने आप को तैयार किया है, ताकि छात्र सुरक्षित वातावरण में अपनी शिक्षा को जारी रख सकें। जनवरी से फिजिकल क्लासेस की शुरुआत हो गई है। यह देखकर छात्र भी काफी उत्साहित हैं।

“फिजिकल क्लासेस के शुरू होने से मैं काफी खुश हूं, क्योंकि एडमिशन के बाद मैं पहली बार ऑफलाइन Jaipuria Lucknow से रूबरू हो पाई, इसके विशाल कैंपस और कॉलेज के छात्रों से मिलने के बाद मैने जाना कि मैने सही जगह एडमिशन लिया है। मैं कॉलेज के इंतजाम को देखकर काफी संतुष्ट भी हूं।” - शिवानी शुक्ला PGDM 2020-22

Jaipuria संस्थान का मानना है कि कॉलेज एक ऐसी जगह है, जहां छात्र अपने सपनों को पूरा करते हैं, यहां उनके करियर को आकार मिलता है और उन्हें भविष्य के लीडर के रूप में तैयार किया जाता है। करियर के अलावा, कॉलेज जीवन भर के लिए दोस्त बनाने और कैंपस की यादें संजोने के लिए एक शानदार जगह है। इस बात को छात्र भी समझते हैं, अब जबकि कैंपस खुल चुका है, वो अपने करियर और सपनों को नई उड़ान दे रहे हैं। 

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें

लेखकः शक्ति सिंह

[यह आर्टिकल ब्रांड डेस्‍क द्वारा लिखा गया है।]

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप