नई दिल्ली, अनुराग मिश्र। कोरोना के इस दौर में अगर किसी चीज की सबसे अधिक जरूरत है, तो वह है अपनी स्किल बेहतर करने की। भले ही मौजूदा समय में नौकरियां और विकल्प सीमित लग रहे हों, पर यदि आपके पास जरूरी योग्यता है तो अवसरों की कमी नहीं है। ऐसे में घर बैठे अपने क्षेत्र और रुचि से संबंधित कोर्स करके अपनी योग्यता को नई ऊंचाई दे सकते हैं। खास बात यह है कि आईआईएम, गूगल, क्वेसेरा जैसे टॉप संस्थान और संगठन कई कोर्स मुफ्त करा रहे हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही कोर्सों के बारे में-

आईआईएम के ये मुफ्त कोर्स

कॉरपोरेट फाइनेंस

1. इस कोर्स में आप संस्थान के कॉरपोरेट फाइनेंस को सीख सकते हैं। आप फाइनेंशिंग फर्म में फाइनेंशियल मार्केट और फंड के लिए इंडिविजुअल जरूरतों के बारे में सीख सकते हैं। कैपिटल बजटिंग टूल्स जैसे, पे-बैक पीरियड, इंटरनल रेट ऑफ रिटर्न और नेट प्रजेंट वैल्यू आदि के बारे में जान सकते हैं। यह कोर्स पांच हफ्तों का होगा।

2. अकाउंटिंग और फाइनेंस

इस कोर्स में फाइनेंशियल स्टेटमेंट एनालिसिस, कॉस्ट मैनेजमेंट और फाइनेंशियल मैनेजमेंट आदि के बारे में सीख सकते हैं। यह कोर्स आपको फाइनेंशियल स्टेटमेंट को समझने, बिजनेस परफॉर्मेंस का जानने, टैक्स मैनेजमेंट, लीवरेज मैनेजमेंट आदि को समझने में मददगार होगा। यह कोर्स 12 हफ्तों का होगा। इस कोर्स को मुफ्त में किया जा सकता है।

3. कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट

कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट बिजनेस की रणनीतियों को सफलतापूर्वक लागू करने, नए तरीके और तकनीकों को अपनाने और कस्टमर प्रॉफिटेबिलिटी आदि के बारे में सिखाता है। इस कोर्स में आपको सीआरएम की बेस्ट प्रैक्टिसिज को लागू करना, कस्टमर से लॉन्ग टर्म कस्टमर रिलेशनशिप बनाना, कंपनी और कंज्यूमर को सीआरएम का फायदा लेने जैसी चीजों के बारे बताया जाता है।

4. पीपल मैनेजमेंट

इस कोर्स में आप कर्मचारियों को मैनेज करने, पोटेंशियल असेसमेंट करने, रिपोर्ट कर रहे लोगों को प्रोत्साहित करने आदि के बारे में सीख पाएंगे। यह कोर्स छह हफ्ते का होगा। कोर्स के माध्यम से आप संस्थान में पीपल मैनेजमेंट का रोल निभाने में मददगार साबित हो सकते हैं।

5. ऑपरेशन मैनेजमेंट

इस कोर्स के माध्यम से आप बिजनेस ऑपरेशन और लीन मैनेजमेंट सीख सकेंगे। इसमें कैपेसिटी, प्रोडक्टिविटी, क्वालिटी और सप्लाई चेन आदि के बारे में जान सकेंगे। आप सप्लाई-चेन में ब्लूव्हिप इफेक्ट को कम करने, सप्लाई चेन के विभिन्न कंपोनेंट को समझने आदि की गहन जानकारी हासिल कर सकते हैं।

6. इफेक्टिव बिजनेस कम्युनिकेशन

इस कोर्स में आप सीख सकते हैं कि कम्युनिकेशन कैसे काम करता है और यह जरूरी क्यों है। इस कोर्स में चुनौतियां, बाधाएं, बिजनेस कम्युनिकेशन का फ्रेमवर्क, प्रोफेशनल सेटिंग में अपने व्यू शेयर करना, बेहतरीन लेखन की तकनीक और प्रोफेशनल बिजनेस डॉक्यूमेंटेशन के बारे में आप सीख सकते हैं।

गूगल के कोर्स

1. कनेक्ट विद कस्टर ओवर मोबाइल- यह फ्री कोर्स गूगल द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा है। इस कोर्स में आपको यह सिखाया जाता है कि आप अपनी डिजिटल उपस्थिति को कैसे बढ़ाएं। साथ ही मोबाइल के जरिए नए ग्राहकों तक कैसे पहुंचे। यह कोर्स शुरुआती स्तर का कोर्स है और इसके दो मॉड्यूल हैं। यह कुल दो घंटे का कोर्स है।

2. इंफ्लुएसिंग पीपल-इस कोर्स को मिशिगन यूनिवर्सिटी द्वारा बनाया गया है। इसमें लोगों को वाकशैली और पर्सनैलिटी से कैसे प्रभावित किया जा सकता है, उसके बारे में सिखाया जाता है। इससे आपको बेहतर वक्ता और लीडर बनने में मदद मिलेगी। इसके अलावा, बिजनेस आइडिया को रखने, स्टेकहोल्डर से गठबंधन करने आदि में भी यह मददगार होगा।

3. इंग्लिश फॉर करियर डेवलपमेंट-इस कोर्स को पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार किया गया है। इस कोर्स को अंग्रेजी के बारे में ज्यादा जानकारी न रखने वालों को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है। इस कोर्स में प्रोफेशनल रिज्यूमे बनाना, कवर लेटर बनाना, नेटवर्किंग और इंटरव्यू स्किल के बारे में जानकारी दी जाती है।

4. सोशल साइकोलॉजी- वेसलेयान यूनिवर्सिटी द्वारा कराए जा रहे और कोर्सेज की तरह इस कोर्स में आपको सर्टिफिकेट भी मिलेगा। इसमें सोशल साइकोलॉजी की कुछ रिसर्च के बारे में आपको जानकारी दी जाएगी। इसमें ग्रुप बिहेवियर, पर्सनल अट्रैक्शन, किसी को समझाने आदि के बारे में बताया जाएगा। यह कोर्स शुरुआती स्तर का है।

5. प्रमोट ए बिजनेस विद कंटेट- गूगल में मौजूद इस कोर्स के माध्यम से आप लोगों की नजरों में आ सकते हैं। इस कोर्स में आपको सिखाया जाएगा कि आप सोशल मीडिया, वीडियो और कंटेट मार्केटिंग का बेहतर इस्तेमाल कैसे करें। कोर्स में आपको सोशल मीडिया बेसिक्स, लॉन्ग टर्म सोशल मीडिया प्लान, राइज ऑफ ऑनलाइन वीडियो, वीडियो परफॉर्मेंस का आकलन करने जैसी चीजों के बारे में जानकारी दी जाएगी।

इंट्रोडक्शन टू साइबर सिक्योरिटी-यह कोर्स 7 मॉड्यूल का है। इस कोर्स में आपको साइबर सिक्योरिटी के बेसिक के बारे में बताया जाएगा। इसमें हैंडल रुटिंग, डीएनएस, लोड बैलेंसिंग आदि के बारे में बताया जाएगा। साथ ही लाइनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम और एपीआई आदि के बारे में भी आप सीख पाएंगे। 

Posted By: Vineet Sharan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस