नई दिल्ली, जेएनएन। आज के दौर में दुनियाभर में रिमोट वर्कफोर्स यानी दफ्तर से दूर रहकर काम करने के चलन में काफी तेजी आई है। लोग दफ्तर आने और जाने के समय को बचाना चाहते हैं ताकि ट्रैवल में ज्यादा समय बिताने के बजाय वे घर से या ऑफिस से दूर रहकर काम को ज्यादा समय दे पाएं और खुद को भी। वैसे भी आजकल सभी मीटिंग्स वीडियो कॉल के जरिए आसानी से हो जाती हैं। इतना ही नहीं लोग विभिन्न देशों के लिए अपने देश में पहकर ही काम करते हैं और वीडियो कॉल के जरिए ही उनके बीच सारी मीटिंग्स और डील्स हो जाती हैं।

अमेरिका में ‘एयरटास्कर’ द्वारा किए गए अध्ययन में सामने आया कि 4 में से 1 कर्मचारी नौकरी इसलिए छोड़ता है, क्योंकि उन्हें लंबी दूरी तय करके दफ्तर जाना पड़ता है। नौकरी की तलाश में रहने वाले युवा अब इस तरह की संभावनाओं की ओर देखने लगे हैं। वे कार्य और जीवन के बीच संतुलन भी तलाशने लगे हैं। नई पीढ़ी के युवा काम के घंटों में लचीलापन भी चाहते हैं।

बिल गेट्स ने पहले अपनाया

काम में लचीलापन देने की इस नीति को बिल गेट्स ने बहुत पहले ही समझ लिया था। गेट्स ने कहा था, ‘आने वाले वर्षों में सबसे अच्छे कर्मचारी को अपने यहां आकर्षित करने के लिए प्रयास का चलन बढ़ेगा। ऐसे में वे कंपनियां जो कर्मचारियों को लचीलापन देंगी, वे इस काम में आगे रहेंगी।’ बिल गेट्स ने भविष्य की कार्यसंस्कृति का पहले ही अनुमान लगा लिया था।

वर्ष 2013 में इसके लिए ‘नेशनल फ्लेक्स डे’ शुरू किया गया। इसका मकसद यही था कि काम के लचीलेपन के महत्व से सभी को रूबरू कराया जाए और इसे राष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रिय बनाया जाए। फॉर्च्युन 500, कॉरपोरेशन सिस्को, सेल्सफोर्स और हिल्टन ने लोगों को घर से काम करने की आजादी देकर अपने यहां अच्छा माहौल बनाया है।

स्मार्टबग मीडिया के काम का तरीका वैश्विक मार्केटिंग एजेंसी स्मार्टबग मीडिया ने अपने कर्मचारियों को आजादी, लचीलापन और तरक्की की संभावना देकर उन्हें आगे बढ़ाया और अपने साथ जोड़ा। हालांकि इस कंपनी के लिए काम करने वाली टीम पूरे अमेरिका में बिखरी हुई थी, लेकिन कंपनी ने उन्हें वीडियो कॉल करके एकदूसरे से विचार साझा करने की आजादी देकर उनकी बहुत सारी मुश्किलों को आसान कर दिया।

अहा! में कार्य संस्कृति अमेरिका की सबसे तेज गति से बढ़ती कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कंपनियों में से एक ‘अहा!’ ने अपने कस्टमर और कर्मचारियों के आनंद की सबसे अधिक चिंता की। कर्मचारियों को खुशी देने के लिए कंपनी ने उन्हें कहीं से भी काम करने की आजादी दी। इससे कर्मचारियों की क्षमता पर सकारात्मक असर पड़ा।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस