नई दिल्ली, एजुकशन डेस्क। Courses for Agniveer: रक्षा सेनाओं (आर्मी, नेवी, एयर फोर्स) में अप्लकालिक चार वर्ष के लिए अग्निवीर की भर्ती के विरोध उठ रहे सवालों और आशंकाओं का समाधान करते हुए केंद्र सरकार द्वारा कई कदम उठाये जा रह हैं। जहां, ‘चार साल बाद अग्निवीर क्या करेंगे?’ के जवाब में केंद्रीय बलों (सीएपीएफ); यूपी, हरियाणा, उत्तराखण्ड, आदि राज्यों में पुलिस व सम्बद्ध विभागों में भर्ती में प्राथमिकता की घोषणा की जा रही हैं तो वहीं, अग्निवीर की पढ़ाई रूकने की शंका समाधान करते हुए शिक्षा मंत्रालय ने इसके लिए भी घोषणाएं की हैं।

यह भी पढ़ें - 4 साल बाद अग्निवीर क्या करेंगे? इस सवाल का MIB ने दिए 9 जवाब

अग्निवीर के लिए 12वीं सर्टिफिकेट कोर्स

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा बुधवार, 22 जून 2022 को किए गए एक ट्वीट के मुताबिक ऐसे सभी उम्मीदवार जिनकी भर्ती अग्निवीर के तौर पर होती है और वे 10वीं पास हैं तो उनके लिए राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआइओएस) द्वारा विशेष कोर्स शुरू किया जाएगा। साथ ही, संस्थान द्वारा अग्निवीरों को 12वीं का प्रमाण-पत्र प्राप्त करने में सहायता दी जाएगी। इस प्रकार आर्मी, नेवी या एयर फोर्स में भर्ती हुए 10वीं पास अग्निवीर एआइएओस के माध्यम से 12वीं समकक्ष स्तर प्रमाण-पत्र सेवा के दौरान ही प्राप्त कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें - IAF Agniveer Recruitment 2022: अग्निवीरवायु भर्ती के लिए आवेदन 24 जून से, ऐसे करें अप्लाई, देखें नोटिफिकेशन

अग्निवीर के लिए स्नातक डिग्री कोर्स

इसी प्रकार, शिक्षा मंत्रालय ने तीनों सेनाओं में भर्ती हुए अग्निवीर के स्नातक डिग्री कोर्स को लेकर भी जानकारी अपने ट्वीट के माध्यम से दी। इसके अनुसार, 10वीं पास अग्निवीर एनआइओएस से 12वीं सर्टिफिकेट करने के बाद और 12वीं पास अग्निवीर सीधे इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) द्वारा शुरू किए जाने वाले ‘विशेष डिग्री कोर्स’ से सेवा के दौरान स्नातक भी कर सकेंगे। इतना ही नहीं, अग्निवीरों की सेवा के दौरान हुए प्रशिक्षण को स्नातक डिग्री के लिए क्रेडिट के तौर पर मान्यता दी जाएगी। इसका अर्थ है कि अग्निवीर की ट्रेनिंग को भी उनके ग्रेजुएशन का हिस्सा माना जाएगा।

अग्निवीर के लिए स्किल इंडिया कोर्स

रक्षा सेनाओं में अग्निपथ योजना के अंतर्गत चार साल के लिए होने वाली अग्निवीरों की सेवा के दौरान उनकी औपचारिक लेकिन विशेषतौर तैयार कोर्सेस से शिक्षा जारी रखने की तैयारी की गई है। इसके साथ ही साथ सरकार ने उनके मार्केट जॉब रेडीनेस और लेटेस्ट एडवांसमेंट्स को ध्यान रखते हुए स्किल इंडिया के अंतर्गत विभिन्न सर्टिफिकेट कोर्स भी कराए जाने की भी व्यवस्था की है।

Edited By: Rishi Sonwal