नई दिल्ली, जेएनएन। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secondary Education- CBSE) ने 10वीं और 12वीं के छात्रों की प्रायोगिक परीक्षा (Practical Exams) के लिए नए नियम बनाए हैं। होम सेंटर खत्म होने से छात्रों को प्रायोगिक परीक्षा दूसरे सेंटर पर जाकर देनी होगी। एक सेंटर पर पांच से छह स्कूलों के छात्र होंगे। ऐसे में छात्रों को यूनिफॉर्म में प्रायोगिक परीक्षा में शामिल होने के निर्देश दिए गए हैं। जो छात्र यूनिफॉर्म में नहीं होंगे, उन्हें प्रायोगिक परीक्षा में शामिल नहीं किया जाएगा।

फ्लाइंग छात्रों की बढ़ी मुश्किलें

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के इस नए नियम से जो छात्र मान्यता प्राप्त स्कूलों में पढ़ रहे हैं उनको तो कोई दिक्कत नहीं होगी, क्योंकि उनके पास उस स्कूल की यूनिफॉर्म पहले से है, लेकिन फ्लाइंग छात्रों की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

दरअसल, फ्लाइंग छात्र वे होते हैं जो गैर मान्यता प्राप्त स्कूल में पढ़ते हैं, लेकिन परीक्षा मान्यता प्राप्त स्कूल से देते हैं। जिस स्कूल में वह पढ़ रहे होते हैं वह स्कूल ऐसे छात्रों का फार्म किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से साठगांठ कर भरवाता है। फ्लाइंग छात्रों को जब बोर्ड परीक्षा का एडमिट कार्ड मिलता है तभी उन्हें स्कूल की जानकारी हो पाती है कि किस स्कूल से उनका फार्म भरा गया है। ऐसे में अंतिम समय की मुश्किलों को कम करने के लिए अभी से ही अभिभावक स्कूलों से वहां की जानकारी लेकर यूनिफार्म तैयार करवा रहे हैं। राजधानी के जितने भी गैर मान्यता प्राप्त स्कूल हैं वह केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के स्कूलों से साठगांठ कर अपने छात्रों का परीक्षा फार्म भरवाते हैं।

सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप के लिए आवेदन की तिथि बढ़ी

सीबीएसई ने सिंगल गर्ल चाइल्ड स्कॉलरशिप के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि आगे बढ़ा दी है। पहले इसके लिए आवेदन की आखिरी तारीख 18 अक्टूबर, 2019 थी जो अब बढ़ाकर 31 अक्टूबर, 2019 कर दी गई है। इस सिलसिले में सीबीएसई की तरफ से एक सर्कुलर जारी किया गया है। जिसके मुताबिक ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर, 2019 तक कर दी गई है जबकि रिन्यूअल के लिए हार्ड कॉपी 25 नवंबर, 2019 तक जमा कर सकते हैं।

Posted By: Neel Rajput

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप