नई दिल्ली, प्रेट्र : कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) के नतीजे शनिवार को घोषित कर दिए गए। 10 परीक्षार्थियों ने पूरे 100 पर्सेंटाइल हासिल किए हैं। ये सभी छात्र हैं और प्रौद्योगिकी व इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि के हैं।अधिकारियों ने बताया कि पूरे 100 पर्सेंटाइल हासिल करने वाले छात्रों में छह आइआइटी और दो एनआइटी के हैं। इनमें से चार महाराष्ट्र के छात्र हैं, जबकि बाकी के झारखंड, तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल और उत्तराखंड के हैं। अधिकारियों के मुताबिक इस साल 21 अभ्यर्थियों का स्कोर 99.9 पर्सेटाइल रहा है, इनमें से 19 प्रौद्योगिकी पृष्ठभूमि के हैं। देश के प्रीमियर भारतीय प्रबंधन संस्थानों (आइआइएम) और 100 से ज्यादा अन्य संस्थानों में प्रबंधन कोर्स में प्रवेश के लिए यह परीक्षा ली जाती है।

अधिकारियों ने बताया कि पिछले 10 साल के दौरान इस साल परीक्षार्थियों की संख्या सबसे ज्यादा थी। इनमें 1.34 लाख पुरुष, 75 हजार महिला और पांच ट्रांसजेंडर परीक्षार्थी शामिल थे।

कैट परीक्षा 24 नवंबर, 2019 को दो सत्रों में आयोजित की गई थी। परीक्षा में सफल उम्मीदवारों का ग्रुप डिस्कशन और पर्सनल इंटरव्यू भी होगा। ऐसा माना जाता है कि कैट में किसी छात्र का स्कोर 99 पर्सेटाइल से ज्यादा होता है तो आइआइएम में उसके प्रवेश का चांस ज्यादा होता है।

क्या होता है पर्सेंटाइल

पर्सेंटाइल का मतलब होता है कि आपको कितने छात्रों से ज्यादा नंबर मिला। जैसे अगर आपका पसेर्ंटाइल 80 फीसदी है तो इसका मतलब हुआ कि आपने 80 फीसदी उम्मीदवारों से ज्यादा अंक हासिल किए हैं।

टॉप 10 छात्रों में मुंबई आइआइटी के सोमांश भी

आइआइटी मुंबई में मैकेनिकल इंजीनियरिंग के आखिरी वर्ष के छात्र सोमांश चोरडिया ने 100 पर्सेंटाइल हासिल करने वाले टॉप 10 छात्रों में शामिल हैं। मूलरूप से नागपुर के रहने वाले सोमांश मैनेजमेंट की पढ़ाई के लिए आइआइएम-अहमदाबाद में दाखिला लेने की ख्वाहिश रखते हैं। उनके साथी और दिल्ली निवासी राहुल मांगलिक ने 99.9 पर्सेंटाइल हासिल की है। राहुल भी मैकेनिकल इंजीनियरिंग के अंतिम वर्ष के छात्र हैं। 

Posted By: Pooja Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस