नई दिल्ली, एजुकेशन डेस्क। Best Resume Tips: रिज्यूमे एक ऐसा शब्द है,जिससे हर किसी का राब्ता पड़ता है। कभी प्रोफेशनल लाइफ की शुरुआत करने में तो कभी वर्क लाइफ में खुद को एक नया मुकाम तक पहुंचाने के लिए। हर समय यही रिज्यूमे ही तो है, जो कंपनी में कैंडिडेट की सबसे पहली एजुकेशन क्वालिफिकेशन, वर्क एक्सपीरियंस और स्किल्स से रूबरू करवाते हैं। ऐसे में ये बेहद जरूरी है कि, जब भी हम रिज्यूमे बनाएं तो बेहद सावधानी बरतें। वर्क लाइफ से जुड़ी हर डिटेल्स को लिखते समय किसी भी तरह की लापरवाही न करें। इसलिए रिज्यूमे को परफेक्ट बनाने के लिए हम इससे जुड़ी कुछ जरूरी जानकारी देने जा रहे हैं, जिससे कैंडिडेटस को इसको तैयार करने में मदद मिल सके। आइए जानते हैं इन बारीकियों के बारें में।

स्पष्ट और शार्ट में रखें

Resume बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि यह पूरी तरह से क्लीयर और शार्ट में हो। कई बार अभ्यर्थी अपनी प्रोफेशनल एक्सपीरियंस और स्किल्स को दिखाने के लिए बहुत बढ़ा-चढ़ा कर लिख देते हैं। इसका नतीजा यह होता है कि इतना महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट्स खिचड़ी हो जाता है इसलिए इस बात का ध्यान रखें और केवल रिज्यूमे दो पेजों तक सीमित रखें।

स्पेलिंग का रखें ध्यान

Resume को सबमिट करने से पहले ध्यान रखें कि उसे अच्छी तरह पढ़ लें। किसी भी शब्द की स्पेलिंग, सेंटेंस फॉर्मेशन में कोई गड़बड़ी न हों। इसके लिए बेहतर होगा कि आप अपना डॉक्यूमेंट्स किसी अन्य से भी चेक करवा लें, क्योंकि कई बार खुद गलती पर नजर नहीं जाती, बल्कि कोई दूसरा उसे अच्छी तरह से पड़क लेता है। इसलिए एक बार दूसरे से क्रासचेक कर लें।

टफ शब्दों से बचें

अक्सर हमें लगता है कि जितने ज्यादा टफ शब्द होंगे, उससे इंटरव्यूअर पर काफी अच्छा असर पड़ेगा लेकिन कई बार यह बात मुश्किल में डाल सकती है। दरअसल कई बार, इंटरव्यू उसी कड़े शब्द से जुड़े कोई चीज पूछता है, जिसके बारे में मालूम नहीं होने के चलते आपका इम्प्रेशन खराब हो सकता है। इसलिए ध्यान रखें।

स्ट्रेंथ और वर्क एक्सपीरियंस को करें हाइलाइट

परफेक्ट रिज्यूमे के लिए अभ्यर्थियों को अपनी स्ट्रेंथ और वर्क एक्सपीरियंस को अच्छी तरह से हाईलाइट करना बेहद आवश्यक है। अपनी पिछली कंपनियों में क्या हासिल किया है। आपकी उपलब्धियां क्या हैं? आपकी स्ट्रेंथ क्या है। यह सभी जानकारी डॉक्यूमेंट्स में शामिल करें।

इन बातों का रखें विशेष ध्यान

अनुपयुक्त ईमेल एड्रेस का उपयोग न करें

गैर जरूरी पर्सनल जानकारी शामिल न करें।

बहुत ज्यादा bullets का प्रयोग न करें।

सिर्फ जॉब की जिम्मेदारियों को सूचीबद्ध न करें।

पिछली नौकरी छोड़ने के कारणों को शामिल न करें।

Edited By: Nandini Dubey