वनों की सुरक्षा करना सामूहिक दायित्व : विधायक

संवाद सहयोगी, पत्ताबाड़ी (दुमका) : शिकारीपाड़ा प्रखंड के दूधाजोल गांव में गुरुवार को 73 वां वन महोत्सव काफी धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि शिकारीपाड़ा के विधायक नलिन सोरेन ने कहा कि वन है तो जीवन है। वनों की रक्षा करना सामूहिक दायित्व है। समाज के एक-एक व्यक्ति पेड़-पौधा और वनों की सुरक्षा को लेकर सजग व जागरूक बनें। इस मौके पर उन्होंने पौधारोपण करते हुए मौजूद ग्रामीणों से कहा कि वे लोग अपने गांवों और घरों के आसपास खूब पौधा लगाएं ताकि पर्यावरण के साथ आमदनी का जरिया भी तैयार हो सके।

डीएफओ अभिरूप सिन्हा ने कहा कि दुमका जिले में आठ लाख पौधा लगाने का लक्ष्य है। वन महोत्सव के माध्यम से इस लक्ष्य को पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वनों की अवैध कटाई के मामले में विभाग काफी गंभीर है। इस तरह के मामले सामने आने पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। हाल के दिनों में कई लकड़ी मिलों पर कार्रवाई कर उसे ध्वस्त किया गया है। अवैध लकड़ी से लदे वाहनों को भी जब्त किया गया है। कार्यक्रम में दो प्रशिक्षु वन अधिकारी समेत प्रखंड स्तर के पदाधिकारी, पंचायत प्रतिनिधि व बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

Edited By: Jagran