कोलकाता, राज्य ब्यूरो। बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले में पूर्व मंत्री व कद्दावर नेता पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी के बाद अब मवेशी तस्करी मामले में सीबीआइ द्वारा तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बाहुबली नेता अनुब्रत मंडल की गिरफ्तारी के बाद ममता सरकार व सत्तारूढ़ दल चौतरफा घिरी हुई हैं। इस बीच भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष ने शनिवार को बड़ा हमला बोलते हुए कहा है कि बंगाल की हालत भी श्रीलंका जैसी हो जाएगी। यही नहीं, उन्होंने यहां तक कहा है कि श्रीलंका की तरह यहां भी लोग तृणमूल के नेताओं और मंत्रियों को दौड़ा- दौड़ाकर मारेंगे।

घोष ने यह टिप्प्णी अनुब्रत की गिरफ्तारी के बाद केंद्रीय एजेंसियों के कामकाज और कथित तौर पर निष्पक्ष रूप से काम नहीं करने के विरोध में तृणमूल कार्यकर्ताओं द्वारा राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन व रैली निकालने पर की है। सुबह कोलकाता के न्यूटाउन इलाके में मार्निंग वाक के दौरान पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने यह बात कहीं। बता दें कि गुरुवार को अनुब्रत की गिरफ्तारी के बाद ही तृणमूल ने दो दिवसीय विरोध प्रदर्शन का एलान किया था। केंद्र सरकार पर एजेंसियों का उपयोग कर प्रतिशोध की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए तृणमूल कार्यकर्ताओं ने राज्य के विभिन्न जिलों में शुक्रवार व शनिवार को सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन किया।

तृणमूल का कहना है कि वह भ्रष्टाचार का समर्थन नहीं करती लेकिन जब भाजपा नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने की बात आती है तो केंद्रीय एजेंसियां चुप रहती हैं। इसी के खिलाफ तृणमूल ने प्रदर्शन किया। बता दें कि इससे पहले अनुब्रत की गिरफ्तारी पर दिलीप घोष ने खुशी जताते हुए कहा था कि उन्होंने बहुत लोगों का भविष्य अंधकार किया है। उसके अत्याचार व आतंक से बीरभूम जिले के लोग हाहाकार कर रहे थे और इसका फल तो उन्हें भोगना ही होगा। भाजपा नेता ने यहां तक कहा कि इस तरह के आदमी को समाज से अलग करने की जरूरत है और अनुब्रत का पूरा जीवन जेल में कटे इसकी व्यवस्था होनी चाहिए।

Edited By: Sumita Jaiswal