जागरण संवाददाता, धनबाद : अगर सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो जल्द ही धनबाद जिले के सरकारी विद्यालयों को ना केवल स्थाई प्रधानाध्यापक मिल जाएंगे बल्कि शिक्षकों की कमी भी दूर हो जाएगी। शिक्षकों को इस बात का भरोसा नए जिला शिक्षा अधीक्षक ने दिलाया है। जिले के विभिन्न सरकारी स्कूलों में प्रधानाध्यापक के सभी 237 पद खाली है फिलहाल प्रधानाध्यापक का पद प्रभार पर चल रहा है। वही स्नातक प्रशिक्षित के 421 पद प्रोन्नति होने का बाट जोह रहा है।

नए जिला शिक्षा अधीक्षक भूतनाथ रजवार से मिलने के बाद अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ जिला इकाई धनबाद के जिलाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि संघ का एक प्रतिनिधिमंडल नव पदस्थापित जिला शिक्षा अधीक्षक धनबाद भूतनाथ रजवार से मिलकर उनका स्वागत किया था। उन्होंने बताया कि प्रतिनिधिमंडल के द्वारा शिक्षा एवं शिक्षक हित के विषयों के बारे में अवगत कराया गया था।

जिसके बाद जिला शिक्षा अधीक्षक ने निष्पादन में रचनात्मक सहयोग देने का प्रतिबद्धता जताई। जिला शिक्षा अधीक्षक ने संघीय पदाधिकारियों एवं उपस्थित सदस्यों का स्वागत करते हुए जिले में गुणवत शिक्षा की लक्ष्य प्राप्ति में अपेक्षित सहयोग की अपेक्षा व्यक्त करते हुए कहा कि दुर्गापूजा के पहले बोनस स्वरूप प्रोन्नति देने का यथासंभव प्रयास करेंगें। बताते चलें कि धनबाद जिले के सभी मध्य विद्यालय प्रधानाध्यापक विहीन है। आज भी प्रधानाध्यापक के सभी 237 पद एवं स्नातक प्रशिक्षित के 421 पद (प्रोन्नति से भरा जानेवाला) प्रोन्नति होने का इंतजार कर रहा है। जिला शिक्षा अधीक्षक धनबाद के द्वारा प्रोन्नति प्रक्रिया के शीघ्र निष्पादन की घोषणा से शिक्षक-शिक्षिकाओं में की आशा की किरण जगी है।

Edited By: Atul Singh