जींद, जागरण संवाददाता। राजस्थान में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे जींद के कानूनगो मोहल्ला निवासी युवक को लारेंस बिश्नोई गैंग का नजदीकी बताकर दुष्कर्म के झूठे मामले में बदनामी का भय दिखा कर ब्लैकमेल कर 50 लाख रुपये मांगने और 10 लाख रुपये ऐंठते शहर थाना पुलिस ने महिला सहित तीन लोगों को काबू किया है।

शहर थाना पुलिस ने पकड़े गए लोगों सहित नौ के खिलाफ ब्लैकमेल करने, जबरन वसूली करने सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। कानूनगो मोहल्ला निवासी जतिन ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसका बेटा उदयपुर राजस्थान में एमबीबीएस का छात्र है। उसके साथ पढ़ने वाली महक, उसकी मां अनुप्रिया, ब्वायफ्रेंड गगन नागरा, चचेरा भाई प्रथम तथा उसकी सहेली सृष्टि लगातार फोन कर उसके बेटे को दुष्कर्म के मामले में फंसाने की धमकी दे रहे हैं और समझौता करने के नाम पर एक करोड़ रुपये की मांग कर रहे हैं।

आरोपित लारेंस बिश्रोई के करीबी होने की धमकी देते हैं। बार-बार धमकियां देने के बाद बुलाने पर वह 10 अगस्त को हिसार एक रेस्टोरेंट में अनुप्रिया और उसके चचेरे भाई प्रथम से मिला। जिन्होंने उसके बेटे का करियर बर्बाद होने का भय दिखाते हुए धमकी दी और पैसे देने के लिए एक सप्ताह का समय दिया।

आखिर 50 लाख रुपये में मामले को निपटाने की बात कही। अनुप्रिया ने 20 लाख रुपये की पहली किश्त जल्द देने के लिए कहते हुए साथ में मिलने तथा पैसे देने की जगह भी तय करने के बारे में बताया। किसी तरह उसने 10 लाख रुपये का इंतजाम किया। पुलिस ने जतिन की शिकायत के आधार पर छापामार टीम का गठन किया गया।

डयूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार अजय सैनी ने दो-दो हजार रुपये के 500 नोट हस्ताक्षर कर शिकायतकर्ता जतिन को दिए। संपर्क साधने पर आरोपित अनुप्रिया ने गांव गुलकनी के निकट फौजी ढाबे पर उन्हें बुला लिया। शिकायतकर्ता जतिन ने गाड़ी में बैठी अनुप्रिया व उसके साथियों को पैसों से भरा बैग दिया, तो इशारा मिलते ही छापामार टीम ने गाड़ी में सवार लोगों को काबू कर लिया।

पकड़े गए आरोपितों की पहचान शांति नगर निवासी भागवती उर्फ अनुप्रिया, गांव भोडिया बिश्रोई हिसार निवासी शेर सिंह तथा तीसरे व्यक्ति की पहचान गांव बडोप्पल निवासी कुलदीप के रूप में हुई। छापामार टीम ने पकड़े गए तीनों लोगों से 10 लाख रुपये की राशि बरामद कर ली। पुलिस ने शिकायत के आधार पर अनुप्रिया, महक, गगन नागरा, प्रथम, सृष्टि, भागमती, शेर सिंह, कुलदीप के खिलाफ ब्लैकमेल करने, जबरन वसूली करने समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया। पकड़े गए आरोपितों से पुलिस पूछताछ कर रही है।

शहर थाना के जांच अधिकारी सतीश ने बताया कि एमबीबीएस के छात्र को दुष्कर्म के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर उसके साथ पढ़ने वाली छात्रा, उसकी मां तथा उसके जानकारों द्वारा ब्लैकमेल किया जा रहा था। 10 लाख रुपये की राशि के साथ महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Edited By: Anurag Shukla