जागरण संवाददाता, नोएडा: स्वास्थ्य विभाग की ओर से रविवार को 140 केंद्रों पर कोरोनारोधी टीका लगाने को लेकर मेगा कैंप का आयोजन हुआ। जिला अस्पताल समेत अन्य स्वास्थ्य केंद्रों पर 90 प्रतिशत लोग वैक्सीन लगवाने पहुंचे।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुनील कुमार शर्मा का कहना है कि कोरोना अभी गया नहीं है। कोविड की वैक्सीन ने कोरोना को नियंत्रित किया है। जिन लोगों ने दोनों डोज लगवाई हैं, उनका डर कम हुआ है। अब सतर्कता डोज भी सभी को लगवाना चाहिए। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत कोविड वैक्सीन अमृत महोत्सव भी मनाया जा रहा है। इस दौरान 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं को सतर्कता डोज निश्शुल्क लगाई जा रही है। जिन्होंने कोविड वैक्सीन के दो डोज लगवा लिए हैं और छह माह पूरे हो चुके हैं, उन्हें सतर्कता डोज लगवाना है। जिस प्रकार पहला व दूसरा डोज लगवाने में उत्साह दिखाया गया था। उसी प्रकार अब यह तीसरा डोज भी लगवाया जाए, जिससे सुरक्षा होगी। 15 जुलाई से 18 से अधिक आयु के सभी लोगों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित बूथों पर निश्शुल्क सतर्कता डोज लगाई जा रही है। पहले सरकार ने केवल 60 साल से अधिक आयु के लोगों को निश्शुल्क सतर्कता डोज लगाने की व्यवस्था की थी, जबकि 18 साल से 60 साल से लोगों को शुल्क देकर निजी अस्पतालों में लगवाने को कहा था। इस कारण 15 से 59 की आयु वर्ग के कम ही लोग सामने आ रहे थे। अब निश्शुल्क डोज की व्यवस्था होने के बाद भी लक्ष्य पूरा करना चुनौती बना है। निश्शुल्क डोज 30 सितंबर तक ही लगाई जानी हैं।

Edited By: Jagran