जासं, फरीदाबाद : खेड़ी पुल थाना के जीवन नगर कालोनी में प्लाट के विवाद में गर्दन और माथे पर नुकीले हथियार से वार कर पेंटर की हत्या करने वाले चार आरोपितों को क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। मृतक का नाम नरेश था। उनकी उम्र करीब 30 साल थी। उनके भतीजे गुलशन की शिकायत पर खेड़ी पुल थाना पुलिस ने तीन नामजद सहित अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस के अनुसार अभी इस मामले में तीन आरोपित और फरार चल रहे हैं। आरोपितों में पूरण उर्फ वरुण, नीतीश, विक्रम तथा सुभाष हैं। पूरण किसान मजदूर कालोनी, विक्रम रामबीर झुग्गी, सुभाष व नीतीश बसेलवा कालोनी के रहने वाले हैं।

गड्ढा कालोनी, मवई में रहने वाले गुलशन ने पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि चाचा नरेश घरों में पेंट का काम करते थे। पूरण नाम के व्यक्ति से उनका किशन मजदूर कालोनी में एक प्लाट को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था। शनिवार रात करीब 12 बजे गुलशन के पास फोन आया कि जीवन नगर में तुम्हारे चाचा नरेश गुलशन बेसुध हालत में पड़े हुए हैं। वह तुरंत मौके पर पहुंचा। उसने देखा कि पूरण और उसके दोस्त नितिश, सुभाष व अन्य गली से भागते हुए जा रहे थे। गुलशन को देखकर उन्होंने कहा कि तुम्हारे चाचा का काम कर दिया है। उसे उठाकर ले जाओ। वह आगे गया तो एक खाली प्लाट पर नरेश बेसुध पड़े हुए थे। उनकी गर्दन और माथे पर गहरे घाव थे। पुलिस टीम ने आरोपितों को सेक्टर-29 से गिरफ्तार किया। प्राथमिक पूछताछ में सामने आया कि आरोपित पूरण का नरेश के साथ काफी समय से विवाद चल रहा था। वारदात की रात नरेश का पूरण के चचेरे भाई अनिल के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था, जिसमें अनिल के साथ उसका दोस्त नीतीश भी शामिल था। इस झगड़े में नीतीश को कुछ चोटें आई। नीतीश ने यह बात अपने चचेरे भाई पूरण को बताई, जिसके पश्चात आरोपित पूरण अपने भाई सुनील, चचेरे व ममेरे भाई अनिल व आकाश तथा अपने दोस्त नीतीश, विक्रम तथा सुभाष को लेकर नरेश को सबक सिखाने के लिए अपने साथ लाठी-डंडे व राड लेकर चल पड़े। रात करीब 12 बजे उन्होंने नरेश के साथ मारपीट की और उसके सिर पर लाठी व डंडों से कई वार किए, जिसकी वजह से नरेश की मृत्यु हो गई।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट