घर से हंसते हुए निकले थे विद्यालय, हो गई मौत

ओबरा (औरंगाबाद) : औरंगाबाद-पटना मुख्य पथ पर शंकरपुर पेट्रोल पंप के पास बुधवार की सुबह हुई शिक्षक दंपति की मौत से गांव में मातम छाया है। बच्चे रो रहे हैं। ग्रामीण यह समझ नहीं पा रहे हैं कि यह सब कैसे हो गया। ओबरा प्रखंड के शंकरपुर गांव निवासी शिक्षक अशोक पासवान अपनी पत्नी बसंती कुमारी के साथ बुधवार की सुबह घर से हंसते हुए बाइक पर सवार होकर निकले थे। तब यह सोचा नही था कि वे जा रहे हैं तो अब घर नहीं लौट पाएंगे। प्रखंड के मध्य विद्यालय डिहरा लख में शारीरिक शिक्षक के पद पर पदस्थापित अशोक अपनी पत्नी के साथ प्रतिदिन बाइक से विद्यालय जाते थे। पत्नी बसंती कुमारी मध्य विद्यालय खरांटी में प्रभारी प्रधानाध्यापक थी। कहा जा रहा है कि वे घर से विद्यालय के निकले जैसे ही पेट्रोल पंप पर तेल लेने के लिए मुड़े की तेजी से आ रही पिकअप वैन ने रफ्तार को रोक नहीं पाया और बाइक में जोरदार टक्कर मार दिया। शिक्षक अशोक की मौत घटनास्थल पर हो गई। घायल पत्नी सड़क पर तड़पने लगी तो इलाज के लिए सदर अस्पताल ले जाया गया जहां मौत हो गई। सदर अस्पताल में एक साथ दोनों के शवों का पोस्टमार्टम कराया गया। ओबरा थाना पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजनों को सौंप दिया। जैसे ही शव गांव पहुंची कोहराम मच गया। स्वजनों के साथ ग्रामीण रोने लगे। बच्चे अनाथ हो गए। ग्रामीणों ने बताया कि शिक्षक दंपति को तीन लड़की एवं दो लड़के हैं। दो लड़की की शादी हो चुकी है जबकि बरखा कुमारी, बेटा हनुमंत एवं जमवंत पढ़ाई कर रहे हैं। एक स्नातक व दूसरा इंटर में है। घर चलाने की जिम्मेवारी बच्चों पर आ गई है।

Edited By: Jagran